मन मनोहन बोले, 2019 में मोदी को जनता देगी जवाब

इंदौर: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा कांग्रेस के नेतृत्व वाली सरकार के फैसलों पर सवाल उठाने पर पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह ने बुधवार को यहां कहा कि आगामी लोकसभा चुनाव 2019 में देश की जनता उन्हें जवाब देगी।

डॉ. सिंह ने बुधवार को यहां एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, “भारतीय रिजर्व बैंक और सरकार के वित्त मंत्रालय के बीच काफी नाजुक रिश्ते होते हैं। दोनों को मिलकर काम करना होगा। दोनों की अलग-अलग जिम्मेदारियां हैं, लिहाजा दोनों की पहचान के साथ सद्भावना बने रहना भी आवश्यक है।”

डॉ. सिंह से जब पूछा गया कि प्रधानमंत्री मोदी ने आर्थिक क्षेत्र में नोटबंदी और जीएसटी के दो बड़े फैसले लिए हैं और मोदी हर सभा में कांग्रेस सरकार और आपके निर्णयों को चुनौती देते हैं, तो उन्होंने कहा कि वह मोदी जी की चुनौती का संवाददाता सम्मेलन में जवाब नहीं देंगे, बल्कि देश की जनता वर्ष 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव में उन्हें इसका जवाब देगी।

कांग्रेस के कम होते जनाधार के सवाल पर मनमोहन ने कहा, “कांग्रेस यह महसूस कर रही है और समस्याओं का सामना भी कर रही है, क्योंकि वर्ष 2014 के चुनाव के समय यह भ्रम फैलाया गया कि संप्रग सरकार के काल में कथित तौर पर भ्रष्टाचार हुआ।”

उन्होंने कहा, “मोदी ने वर्ष 2014 चुनाव में बड़े-बड़े वादे किए थे, जो अब खोखले साबित हो रहे हैं। दूसरी तरफ मोदी सरकार ने उन्हीं योजनाओं को आगे बढ़ाया, जिन्हें संप्रग ने शुरू किया था। बस उनमें कुछ लीपा-पोती जरूर की है।”

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper