मस्जिदों में जुम्मे की नमाज पढ़ने के लिए कश्मीर में प्रतिबंधों में दी जाएगी ढील

श्रीनगर: कश्मीर घाटी में प्रतिबंधों में ढील दी जाएगी ताकि लोग स्थानीय मस्जिदों में जुम्मे की नवाज पढ़ सकें। अधिकारियों ने यह जानकारी दी लेकिन साथ ही बताया कि इस दौरान यहां ऐतिहासिक जामा मस्जिद में जुम्मे की नमाज नहीं पढ़ी जाएगी।

उन्होंने बताया कि राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल ने प्राधिकारियों को यह सुनिश्चित करने का निर्देश दिया है कि किसी भी कश्मीरी को परेशान नहीं किया जाए। इसके बाद यह कदम उठाया गया है। अधिकारियों ने स्पष्ट किया कि लोगों को उनके इलाके में स्थित मस्जिदों में नमाज पढ़ने की अनुमति दी जाएगी।

देशभर में भारी बारिश से हालात हुए बेकाबू

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper