महावीर जयंती और गुड फ्राइडे पर खुले रहेंगे बैंक, दोनों दिन होगा कामकाज

लखनऊ: आमतौर पर महावीर जयंती और गुड फ्राइडे के मौके पर बैंकों में छुट्टी होती है लेकिन इस बार उत्तर प्रदेश में ऐसा नहीं होगा. उत्तर प्रदेश में महावीर जयंती यानी 6 अप्रैल और गुड फ्राइडे यानी 10 अप्रैल को बैंक खुले रहेंगे. दोनों दिन बैंकों में कामकाज होगा.

दरअसल, लॉकडाउन में राज्य सरकार DBT के माध्यम से किसानों और गरीबों को पैसे ट्रांसफर कर रही है. यही वजह है कि राज्य के सभी बैंकों के लिए 6 अप्रैल और 10 अप्रैल के घोषित अवकाश निरस्त कर दिए गए हैं. बता दें कि यूपी सरकार राज्य के अलग-अलग वर्ग के जरूरतमंदों को पैसे ट्रांसफर कर रही है. इसमें बुजुर्ग, महिला और गरीब वर्ग शामिल है.

इस बीच, वित्त मंत्रालय ने महिला जन-धन खाताधारकों से राहत राशि की निकासी के लिए इंडियन बैंक एसोसिएशन (आईबीए) की समयसारिणी का पालन करने की अपील की है. मंत्रालय ने कहा कि कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए बैंकों में भीड़ लगाने से बचा जाना चाहिए.

वित्त सेवा सचिव देवाशीष पांडा ने एक ट्वीट में कहा, ‘‘महिला जन-धन खाताधारकों से अपील की जाती है कि वे अपने खाता संख्या के आखिरी अंक को देख लें और उसके आधार पर आईबीए की समयसारिणी का अनुसरण करें. पैसों की निकासी किसी भी एटीएम से भी की जा सकती है. एटीएम से इस निकासी पर कोई शुल्क नहीं लगेगा. आपस में दूरी का पालन करें और कोरोना वायरस से लडें.’’

आईबीए की तय समयसारिणी के हिसाब से जिन महिला जन-धन खाताधारकों की खाता संख्या का आखिरी अंक शून्य या एक है, उनके खाते में तीन अप्रैल को पैसे डाले जाएंगे. जिनकी खाता संख्या का आखिरी अंक दो या तीन है, उन्हें चार अप्रैल को पैसे मिलेंगे. इसी तरह चार या पांच आखिरी अंक वाले सात अप्रैल को, छह या सात अंक वाले आठ अप्रैल को तथा आठ या नौ अंक वाले नौ अप्रैल को पैसे निकाल सकेंगे. बता दें कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत घोषित तीन किस्तों की ये पहली किस्त है.

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper