महिला का चाकलेट प्रेम पड़ा भारी, लगाना पड़ रहा हैं अदालत के चक्कर

लंदन: ब्रिटेन में एक महिला को चाकलेट खरीदनी महंगी इतनी पड़ गई। जिसकी वजह से उस अदालत के चक्कर लगाने पड़ रहे हैं। मामला लंदन का है जहां एक महिला ने महज एक दिन में 26 लाख चाकलेट खरीदने पर खर्च कर दिए। इसके बाद हालात यह है कि महिला को अदालत को चक्कर काटने पड़ सकते हैं।

महिला का नाम जमीरा बताया जा रहा है। रिपोर्ट के मुताबिक महिला एक भ्रष्टाचारी बैंकर जहांगीर हजियेव (57) की पत्नी है, जो 15 साल जेल की सजा काट रहा है। वह इंटरनेशनल बैंक ऑफ अजरबैजान का पूर्व अध्यक्ष था। जानकारी के मुताबिक, महिला ने लंदन के एक लग्जरी डिपार्टमेंटल स्टोर हैरोड्स से करीब 26 लाख के चॉकलेट खरीदे। जानकर हैरानी होगी कि इस स्टोर में एक चॉकलेट की डिब्बे की कीमत करीब 53 हजार है।

अपनी चॉकलेट की लालसा को संतुष्ट करने के अलावा, महिला ने हैरोड्स खिलौना विभाग से करीब 8 करोड़ 82 लाख रुपए के खिलौने,आभूषण डिजाइनर बाउचरन और कार्टियर से करीब 50 करोड़ की ज्वैलरी भी खरीदी है। हालांकि अब महिला की असाधारण जीवनशैली ने उस भारी संकट में डाल दिया है। दरअसल महिला की आय का स्रोत जानने के लिए राष्ट्रीय अपराध एजेंसी (एनसीए) ने जांच शुरू कर दी है। अदालत ने महिला से पूछा है कि उसकी आय का स्रोत क्या है कि वह इतने पैसे खर्च कर रही है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper