महोबा में दो युुवा किसानों ने फांसी लगाकर की आत्महत्या

महोबा: उत्तर प्रदेश में बुंदेलखंड के महोबा में आर्थिक तंगी से परेशान दो युवा किसानों ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। अपर पुलिस अधीक्षक वीरेंद्र कुमार ने शुक्रवार को यहां बताया कि चरखारी कोतवाली के गुढ़ा गांव निवासी किसान प्रदीप उर्फ कल्लू(30) ने गुरूवार रात में अपने खेत मे मौजूद पेड़ में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। सुबह अपने खेतों की ओर काम के लिए जा रहे ग्रामीणों ने शव लटका हुआ देख परिजनों को सूचना दी। परिजनों ने बताया कि मृतक कल रात से गायब था। परिवार के लोगों ने उसकी काफी खोजबीन की। लेकिन उसका कही कोई पता नही चला।

उधर दूसरी घटना पनवाड़ी क्षेत्र के मसूदपुरा में हुई है। जहां युवा किसान नरेंद्र राजपूत(28) ने अपने कमरे में फांसी लगाकर खुदकुसी कर ली। अपर पुलिस अधीक्षक ने बताया कि सूचना पाकर पुलिस ने शवों को पोस्टमार्टम के लिये भेज दिया है। दोनों मामलों में आत्महत्या के कारण स्पष्ट नही है। मृतकों के परिजनों ने घटना की वजह घर की माली हालत ठीक न होना और आर्थिक तंगी बताया है।

परिजनों के मुताबिक कृषि भूमि कुछ खास न होने के कारण दोनों मेहनत मजदूरी करके अपने परिवार का पेट पालते थे। कोरोना के कारण पिछले ढाई महीने से लॉकडाउन होने और कामकाज ठप हो जाने से उनके समक्ष गम्भीर आर्थिक तंगी उतपन्न हो गई थी। पुलिस दोनों मामलों की जांच कर रही है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper