मांझी ने मसूद को ‘साहब’ कहा, भाजपा ने की आलोचना

पटना: संयुक्त राष्ट्र संघ से वैश्विक आतंकी घोषित जैश-ए-मोहम्मद के सरगना अजहर मसूद को हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा (हम) के प्रमुख और बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी ने ‘मसूद साहब’ कहकर संबोधित किया जिसकी भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के फायर ब्रांड नेता गिरिराज सिंह ने कड़ी आलोचना की लेकिन जनता दल यूनाइटेड (जदयू) ने इस पर अलग राय जाहिर की।

मांझी ने आज यहां कहा, “काफी समय से अजहर साहब को वैश्विक आतंकी घोषित करने का प्रयास किया जा रहा था। दबाव बनाया जा रहा था। उन्होंने कहा कि इत्तेफाक है कि इस बार फैसला लिया गया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इसका श्रेय ले रहे हैं, जो हमारी समझ से उचित नहीं है।”

हम प्रमुख ने कहा कि पेड़ लगाया जाता है तो वह शुरू में पौधा होता है और बड़ा होकर फल देने लगता है। जब पेड़ फल देने लगे तो यह कहना कि यह हमारा फल है, उचित नहीं है। यह भी सोचना चाहिए कि पौधा किसने लगाया था। मसूद को आतंकी घोषित करना बहुत जरूरी था। इसकी शुरुआत पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के कार्याकाल में की गई थी।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper