मायावती के करीबी रहे केके गौतम का भी अखिलेश को मिला साथ

लखनऊ: बहुजन समाज पार्टी (बसपा) में मायावती के करीबियों में शुमार रहे और प्रदेश के पूर्व वित्तमंत्री कमलाकांत गौतम (केके गौतम) का भी समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव को साथ मिल गया है। गौतम ने शुक्रवार को यहां सपा मुख्यालय में श्री यादव से मुलाकात की। इस दौरान उनके साथ बौद्ध भिक्षुओं का एक दल भी मौजूद था। गौतम ने अपनी बहुजन उत्थान पार्टी (जी) का उपचुनाव में सपा को समर्थन देने का ऐलान किया।

केके गौतम बसपा प्रमुख मायावती की सरकार में दो बार मंत्री रहे। वे बसपा के संगठन की एक समय धुरी माने जाते थे। उन्हें मायावती ने कई-कई मण्डलों का को-आर्डिनेटर बनाकर संगठन को मजबूत करने का दायित्व दिया। मगर पिछले दिनों वे बसपा से अलग हो गये। ऐसे में उन्होंने बहुजन उत्थान पार्टी (जी) बना ली। अब शुक्रवार को श्री गौतम ने अपनी इसी पार्टी के जरिए यूपी में हो रहे विधानसभा के उपचुनाव में समर्थन की घोषणा की है।

बीते दिनों ही बसपा छोड़ सपाई बने मिठाई लाल भारती और सुमित रत्न थेरा के नेतृत्व में श्रमण संस्कृति रक्षा संघ भारत के बौद्ध भिक्षु भन्ते कुशला धम्मों (सारनाथ), मंगल वर्धन (फरूखाबाद), रतन शील (मैनपुरी), कमल शील (रायबरेली), गिरिमा नंद (ललितपुर) एवं मिलिंद रत्न (बदायूं) ने अखिलेश यादव से मुलाकात की और मंत्रोच्चार के साथ
यादव के स्वास्य एवं दीर्घायु की कामना की। इस मौके पर पूर्वमंत्री केके गौतम ने कहा सभी बौद्ध भिक्षु वैचारिक तौर पर सपा अध्यक्ष श्री यादव के साथ हैं। महात्मा बुद्ध और डा. अम्बेडकर की विचारधारा और उनके अनुयायियों का अखिलेश यादव पर भरोसा है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper