माहिका शर्मा का चौकाने वाला बयान, कई सुपरस्टार ले रहे होमोसेक्सुअलिटी का मजा

मुंबई: अ‎भिनेत्री और मॉडल माहिका शर्मा ने एक बार फिर धारा 377 को खत्म करने की मांग की है। जल्द ही फिल्म द मॉर्डन कल्चर में नजर आने वालीं माहिका शर्मा का कहना है कि फिल्म इंडस्ट्री में पॉपुलर सुपरस्टार हैं, जो अपने पार्टनर के साथ होमो सेक्सुअलिटी का मजा ले रहे हैं। उन्होंने कहा कि इस समय पुरुषों में होमोसेक्सुअलिटी का चलन ज्यादा बढ़ रहा है। यह सब महिलाओं के लिए सहज नहीं है।

माहिका ने कहा कि इस देश में रेपिस्ट्स को गेसमलैंगिकों से ज्यादा अधिकार प्राप्त है। देश में रेप करने वाले आजाद बिना भय के घूम रहे हैं और गेपरेशानी का सामना कर रहे हैं। मेरे कई दोस्त हैं, जो गे हैं, वे ईश्वर की सर्वोत्तम रचना हैं। धारा 377 को तत्काल खत्म करना चाहिए।

माहिका पहले भी अपने बयानों के कारण चर्चा में रही हैं. उन्होंने कहा था कि उनका शुरू से पाकिस्तानी क्रिकेटर शाहिद अफरीदी और हॉलीवुड एक्टर रेयान रेनॉल्ड्स पर क्रश रहा है। एक रिपोर्ट के मुताबिक माहिका ने कहा था- मैं कभी भारतीय सेलेब्स के प्रति आकर्षित नहीं हुई। मुझे हमेशा पाकिस्तानी क्रिकेटर शाहिद अफरीदी और रेयान रेनॉल्डस के प्रति आकर्षण महसूस होता था।

उनके प्रति मेरे पागलपन ने ही मुझे डैनी डी से मिलाया। बता दें कि डैनी डी एडल्ट फिल्मों के कलाकार हैं और माहिका के साथ काम कर चुके हैं। माहिका ने कहा ‎कि जाहिर तौर पर शाहिद हर लड़की की ख्वाहिश हैं। माहिका ने यह भी कहा कि उन्हें डैनी के साथ किसी एडल्ट फिल्म में काम करने में कोई दिक्कत नहीं है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper