मुन्ना बजरंगी की हत्या पर भाजपा विधायक अलका राय ने जताई खुशी, कहा, भगवान के घर में देर है अंधेर नहीं

गाजीपुर: मुन्ना बजरंगी की हत्या से गाजीपुर समेत पूरे पूर्वांचल में चर्चाओं का बाजार गर्म है। मुन्ना बजरंगी वर्ष 2005 में गाजीपुर के मुहम्मदाबाद विधानसभा से निवर्तमान भाजपा विधायक कृष्णानंद राय की हत्या के बाद गाजीपुर में सुर्खियों में आया था। उसने यह हत्या 29 नवंबर 2005 को भांवरकोल थाने के बसनिया गांव के पास की थी। हमले में राय के सरकारी गनर सहित कुल सात लोग मारे गए थे। इस मामले में मुन्ना बजरंगी तथा उसके साथियों सहित बसपा विधायक मुख्तार अंसारी, उनके पूर्व सांसद भाई अफजाल अंसारी और बहनोई एजाजुल हक को भी नामजद किया गया।

यह मामला सीबीआई कोर्ट दिल्ली में चल रहा है। 29 नवम्बर 2005 को जनपद के बसनिया चट्टी पर तत्कालीन भाजपा विधायक कृष्णानंद राय सहित सात लोगों की गोलियों से भूनकर हत्या कर दी गई थी। जिसमें मऊ के बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी, माफिया डॉन मुन्ना बजरंगी सहित कई नामजद थे। सोमवार सुबह जैसे ही मुन्ना बजरंगी की हत्या की खबर की सूचना आई, वैसे ही स्व. विधायक के परिवार में खुशियों का माहौल हो गया। स्व. विधायक कृष्णानंद राय की पत्नी व मोहम्दाबाद से भाजपा की वर्तमान विधायक अलका राय ने इस हत्या पर अपनी खुशी जताई और कहा कि भगवान के यहां से उनको न्याय मिला है।

बातचीत के क्रम में उन्होंने कहा कि वह कभी अपने के लिए नहीं डरी लेकिन बच्चों को लेकर हमेशा डर बना रहता था। उन्होंने कहा कि ऐसे अपराधियों पर किसी न किसी की आह तो लगती ही है, जो जैसा करेगा वैसा ही भरेगा। राय के मुताबिक, कुछ दिन पूर्व मुन्ना बजरंगी के साले की हत्या हुई तो उस वक्त भी उन लोगों ने हमारे बच्चों को फंसाना चाहा था। लेकिन भगवान ने आज न्याय किया है। बता दें कि कृष्णानंद राय की पुण्यतिथि हर साल उनके हत्या स्थान पर परिवार व भाजपा कार्यकर्ताओं द्वारा शहादत दिवस के रूप में भी मनाई जाती है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper