मुरादाबाद महिला अस्पताल का कारनामा, तीन माह की गर्भवती को लगा दी कॉपर टी

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद महिला अस्पताल में डॉक्टरों की लापरवाही का एक ऐसा मामला सामने आया है जिसे सुनकर आप भी हैरान रह जायेंगे। जी हां यहां स्टाफ ने तीन माह की गर्भवती महिला को कॉपर टी लगा दी। बुधवार को महिला अस्पताल की ओपीडी में नियमित स्वास्थ्य परीक्षण के लिए तीन माह की गर्भवती रेखा पत्नी विक्की निवासी रामगंगा कालोनी लालबाग अपनी सास मिथलेश के साथ आईं थीं। चिकित्सक कक्ष के परीक्षण बेड पर उसे स्टाफ ने लिटा दिया और बिना पूछे कॉपर टी लगा दिया।

गर्भवती की समझ में बात आई तो उसने अपनी सास को बताया। इस पर सास और अन्य परिजनों ने हंगामा काट दिया। हंगामा होते ही लोगों की भीड़ जुट गई। स्टाफ ने आनन-फानन में कॉपर टी निकाल दी। गर्भवती रोने लगी। इसपर उसकी सास ने समझाया और चुप कराया। स्त्री रोग विशेषज्ञ द्वारा ही कॉपर-टी लगानी चाहिए, लेकिन बुधवार को महिला अस्पताल में स्टाफ ने कॉपर टी तीन माह की गर्भवती के लगा दी।

कलराज मिश्र बने हिमाचल के नए राज्‍यपाल, आचार्य देवव्रत का गुजरात ट्रांसफर

यह यूटेरस में शुक्राणु और अंडाणु को मिलने नहीं देता और इस कारण गर्भ नहीं ठहरता। इसे अनुभवी मेडिकल पर्सन द्वारा ही लगाया जाना चाहिए। पीडि़त गर्भवती महिला को कॉपर टी के बारे में न तो बताया गया और न ही डेस्क पर लिटाने के बाद पूछा गया। आनन-फानन में कॉपर-टी लगा दी और हंगामा होने पर निकाल भी दी।

इस मामले पर जब मीडिया ने डॉ. कल्पना सिंह, प्रमुख चिकित्सा अधीक्षक से बात की तो उन्होंने कहा कि ओपीडी में कॉपर टी भूलवश लगा दी गई थी। किसी पूजा के नाम को पुकारा जा रहा था, स्टाफ ने समझा यही पूजा है और मरीज ने भी अपना नाम नहीं बताया था। इस वजह से दिक्कत हुई।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper