मैलवेयर से प्रभावित 11 ऐप्स को गूगल ने हटाया, अपने फोन से फौरन करें डिलीट

नई दिल्ली: मैलवेयर से प्रभावित 11 ऐप्स को गूगल ने सुरक्षा के मद्देनजर हटा दिया है। गूगल 2017 से इसे ट्रैक कर रहा था। चेक पॉइंट के शोधकर्ताओं ने जोकर मैलवेयर का नया वेरिएंट डिस्कवर किया है, जो कि ऐप्स में छुप जाते हैं। यह नया अपडेटेड जोकर मैलवेयर डिवाइस में कई और मैलवेयर डाउनलोड कर सकता है, जो बदले में यूज़र के परमिशन के बिना उसे प्रीमियम सर्विस का मेंबर बना देता है। यानी कि हैकर्स इन प्रभावित ऐप्स के ज़रिए चुपचाप प्रीमियम सर्विस का सब्सक्रिप्शन ले लेते हैं, और इसके बारे में यूज़र्स को कुछ नहीं पता चल पाता।

बताया गया कि हैकर्स ने पुराने तरीके को अपनाकर गूगल प्ले प्रोटेक्शंस को पास कर लिया था। ये जोकर मैलवेयर गूगल प्ले स्टोर की 11 ऐप्स में पाया गया है। चेक पॉइंट ने बताया कि गूगल ने इन ऐप्स को प्ले स्टोर से हटा दिया है और कहा कि जिन एंड्रॉयड यूज़र्स के फोन में ये पहले से इंस्टॉल है वह इन्हें फौरन डिलीट कर दें। रिपोर्ट में इन ऐप्स की लिस्ट भी दी गई है, जिसे चेक कर के आप इन ऐप्स को फोन के हटा दें।

चेक पॉइंट ने कहा कि गूगल प्ले की सिक्योरिटी फीचर्स के बावजूद जोकर मैलवेयर का पता लगाना अभी भी बहुत मुश्किल है, और हैकर्स बहुत आसान तरीके से इन्हें प्ले स्टोर में वापस ला सकते हैं। इस साल की शुरुआत में गूगल ने एक रिपोर्ट जारी की थी जिसमें उसने कहा कि उसने प्ले स्टोर से 1,700 मैलिशियस ‘ब्रेड’ ऐप्स का पता लगाया और हटा दिया। ये ब्रेड ऐप्स जोकर मैलवेयर वाले हैं। गूगल ने कहा था कि यूज़र्स के डाउनलोड करने से पहले ही इन ऐप्स को हटा दिया गया था।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper