मोदी स्वयं में भ्रष्टाचार: राहुल

नई दिल्ली: कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर तीखा हमला किया और कहा कि मोदी भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई नहीं लड़ रहे हैं, बल्कि वह खुद में भ्रष्टाचार हैं और उनके नीचे देश का नियंत्रण भ्रष्ट व शक्तिशाली लोगों के हाथ में है। राहुल ने यहां कांग्रेस के अधिवेशन को संबोधित करते हुए कहा, “मोदी नाम भारत के सबसे बड़े व्यापारियों व प्रधानमंत्री के बीच सांठ-गांठ का द्योतक है।”

उन्होंने अलग-अगल धोखाधड़ी के मामलों में संलिप्त इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के पूर्व चेयरमैन ललित मोदी और हीरा कारोबारी नीरव मोदी का जिक्र किया और कहा, “मोदी मोदी ने मोदी को आपका 30,000 करोड़ रुपये का धन दिया और बदले में मोदी ने मोदी को मोदी की मार्केटिंग करने व चुनाव लड़ने के लिए धन दिया।” फ्रांस के साथ राफेल लड़ाकू विमान सौदे को लेकर सरकार पर हमला बोलते हुए राहुल ने कहा, “मोदी ने निजी तौर पर राफेल सौदे को बदल दिया और उन्होंने 36 विमान जितने पैसों में खरीदे उतने में कांग्रेस ने 126 विमान खरीदने का सौदा किया था।”

उन्होंने कहा, “हमने एक विमान के लिए 570 करोड़ रुपये का भुगतान किया और मोदी ने उसी विमान के लिए 1,670 करोड़ रुपये चुकाए। उन्होंने एक विमान के लिए 1,100 करोड़ रुपये अधिक दिए।” राहुल ने कहा, “लड़ाकू विमान सौदा तो छोड़िए, आप ऐसे आदमी पर सब्जी खरीदने के लिए भी भरोसा नहीं कर सकते हैं।” कांग्रेस अध्यक्ष ने रविवार को भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) की तुलना महाभारत के कौरवों से की और कहा कि दोनों संगठन ‘सत्ता के लिए लड़ने’ हेतु बने हैं।

राहुल ने कहा, “सदियों पहले कुरुक्षेत्र में महासंग्राम हुआ था, जिसमें कौरव शक्तिशाली और अहंकारी थे। जबकि पांडव विनम्र थे, जिन्होंने सच्चाई के लिए युद्ध किया।” राहुल ने कहा, “कौरवों की तरह भाजपा और आरएसएस सत्ता के लिए संग्राम करने को बने हैं, लेकिन कांग्रेस सच्चाई की लड़ाई लड़ती है।”उन्होंने कहा कि लोग इस बात को स्वीकार करेंगे कि भाजपा को सत्ता का मद है, क्योंकि उनको (भाजपा के लोग) मालूम है कि इस पार्टी का यही लक्ष्य है।

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह का नाम लिए बगैर उनकी आलोचना करते हुए राहुल ने कहा, “वे (भाजपा) ऐसे शख्स को अपना अध्यक्ष स्वीकार कर सकते हैं, जिनके ऊपर हत्या का आरोप है। लेकिन कांग्रेस में ऐसा नहीं हो सकता, क्योंकि यह सच्चाई का संगठन है।” कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, “भारत सच को स्वीकार करता है।” आरएसएस पर निशाना साधते हुए राहुल ने कहा, “(महात्मा) गांधी ने देश के लिए 15 साल कारावास की यातना झेली। भारत को नहीं भूलना चाहिए कि हमारे नेता जेल में फर्श पर सोए थे, लेकिन (दामोदर विनायक) सावरकर ने दया व रहम की मांग करते हुए ब्रिटिश सरकार को पत्र लिखा था।”

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper