मौनी अमावस्या पर तीन करोड़ से अधिक श्रद्धालुओं ने लगाई संगम में डुबकी

प्रयागराज। कुंभ नगरी प्रयागराज में मौनी अमावस्या पर श्रद्धालुओं तथा अखाड़ों के शाही स्नान का सिलसिला जारी है। मेला प्रशासन की मानें तो तीन करोड़ से अधिक श्रद्धालुओं ने संगम व गंगा मईया में डुबकी लगा चुके हैं। इस दौरान मेला प्रशासन की ओर से सुरक्षा के भी अभूतपूर्व इंतजाम किये गए हैं। कुम्भ मेलाधिकारी विजय किरण आनंद ने बताया कि अनुमान के मुताबिक अब-तक तीन करोड़ से अधिक श्रद्धालु स्नान कर चुके हैं। डीआईजी व एसएसपी कुम्भ मेला के.पी. सिंह ने बताया कि सम्पूर्ण मेला क्षेत्र बनाये गये 40 थानों पर प्रभारी निरीक्षक स्तर के अधिकारी तथा 58 चौकियां पर उपनिरीक्षक स्तर के अधिकारी तैनात हैं। आपातकाल के लिए 43 फायर स्टेशन व 15 सब-फायर स्टेशनों, कुल 58 फायर स्टेशनों के साथ 40 फायर वाच टॉवर एवं 96 कन्ट्रोल वाच टॉवर स्थापित हैं।

बताया कि सुरक्षा को लेकर एसटीएफ की एक टीम, एटीएस की दो टीम, एन.एस.जी.की एक एडवांस टीम, बी.डी.डी.एस. की 5 टीम, ए.एस. चेक की 18, 12 डॉग स्क्वॉड टीम तथा 2 टीम स्पॉटर्स चप्पे-चप्पे पर नजर बनाये हुए हैं। बताया कि मेला क्षेत्र में 440 सी.सी. टी.वी. कैमरों की मदद से निरन्तर निगरानी की जा रही है। मेला क्षेत्र में 50 पुलिस उपाधीक्षक, 13 अपर पुलिस अधीक्षक, 21 सहायक पुलिस अधीक्षक सहित एक-एक पुलिस अधीक्षक व वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक पैनी नजर बनाये हुये हैं। इसके अतिरिक्त 6500 होमगार्ड व 398 रिक्रूट आरक्षी के साथ-साथ 7425 आरक्षी, 756 मुख्यआरक्षी, 696 उपनिरीक्षक व 72 निरीक्षकों की तैनाती है। रेडियो शाखा के एक एस.आर.ओ., 2 एडिशनल एस.आर.ओ., 6 ए.आर.ओ., 17 आर.आई. सहित 535 अधिकारी व कर्मचारी तैनात हैं।

इसी प्रकार अग्निशम शाखा के 1 उपनिदेशक, 10 अग्निशमन अधिकारी, 22 एफ.एस.ओ., 49 एफ.एस.एस.ओ. सहित 871 अधिकारी व कर्मचारी तैनात हैं। पी.ए.सी. की कानून व्यवस्था के लिए 14 कम्पनियां व बाढ़ राहत के लिए 6 कम्पनियां तैनात हैं। सी.ए.पी.एफ. की कुल 37 टीमें, एन.डी.आर.एफ. 10 व एस.डी.आर.एफ. की 2 टीमें तैनात की गयी हैं। उत्तराखण्ड पुलिस से भी 1 पुलिस उपाधीक्षक, 5 निरीक्षक, 20 उपनिरीक्षक, 35 मुख्यआरक्षी, 65 आरक्षी एवं पी.ए.सी. की 2 कम्पनी तैनात है।

मेले में श्रद्धालुओं, साधु-संतों तथा अखाड़ों के नागा संन्यासियों, महंतों, महामण्डलेश्वरों व आचार्यो को किसी भी प्रकार की असुविधा न हो, इसके लिये मेला प्रशासन की ओर से पूरी सतर्कता बरती जा रही है। अखाड़ों के शाही स्नान के लिए विशेष सुविधा की गई हैं। चप्पे-चप्पे पर यूपी पुलिस तथा केन्द्रीय सुरक्षा बल तैनात हैं। उनके मार्ग पर प्रत्येक दस मिनट के अन्तराल पर सफाईकर्मियों की ओर से झाडूं लगाकर सफाई की जा रही है। प्रशासन की ओर से ड्रोन कैमरा तथा हेलिकॉप्टर से कुंभ के प्रत्येक कोने पर पैनी नजर रखी जा रही है। प्रशासन की ओर से जल व थल पर सुरक्षा के पुख्ता इंतजात किये गए हैं।

मेला प्रशासन की ओर से श्रद्धालुओं की सुविधा व सुरक्षा को लेकर लगातार माइक्रो लेविल पर समीक्षा की जा रही है। रेलवे, चिकित्सा, सुरक्षा, बस अड्डों आदि स्थलों का भी लगातार निरीक्षण किया रहा है। मण्डलायुक्त आशीष गोयल ने बताया कि मौनी अमावस्या पर हेलीकाप्टर से हर पहुलूओं पर भ्रमण कर नजर रखी जा रही है। एडीजी एस.एन. सावत ने बताया कि कुंभ क्षेत्र में चप्पे-चप्पे पर पुलिस बल तैनात है। अभी तक किसी प्रकार की असुविधा व अनहोनी की खबर नहीं है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper