यात्रीगण कृपया ध्यान दें, रेल पटरियों की मरम्मत की वजह से कई पैसेंजर ट्रेनें रद्द

लखनऊ: रेल पटरियों की मरम्मत की वजह से उत्तर रेलवे प्रशासन ने दस पैसेंजर ट्रेनों को 12 जून तक निरस्त कर दिया है। इससे हजारों दैनिक यात्रियों को परेशानी उठानी पड़ सकती है। मंडल वाणिज्य प्रबंधक ने शुक्रवार को बताया कि रेल पटरियों की मरम्मत की वजह से उत्तर रेलवे प्रशासन ने दस पैसेंजर ट्रेनों को 11 और 12 जून तक निरस्त किया है। इससे हजारों दैनिक यात्रियों को दिक्कतें उठानी पड़ेगी।

इसके पहले, दर्जनभर ट्रेनें पांच जून तक निरस्त की गईं थीं। ट्रेनों के रद्द करने का सिलसिला भीषण गर्मी में थमने का नाम नहीं ले रहा है। जबकि रेलवे बोर्ड के नियमानुसार गर्मियों में पटरियों की मरम्मत नहीं की जा सकती है। फिलहाल इन पैसेंजर ट्रेनों के चलने की उम्मीद अभी नहीं है। यह ट्रेनें कई महीनों से बार-बार रद्द की जा रही हैं।

निरस्त होने वाली ट्रेनों में लखनऊ-सहारनपुर पैसेंजर (54251) और लखनऊ-शाहजहांपुर ईएमयू (64221) 11 जून तक। सहारनपुर-लखनऊ पैसेंजर(54252), शाहजहांपुर-लखनऊ ईएमयू(64222), सुलतानपुर-लखनऊ पैसेंजर (54281), लखनऊ-सुलतानपुर पैसेंजर (54284), लखनऊ-बरेली पैसेंजर (54377), बरेली-लखनऊ पैसेंजर (54378), प्रतापगढ़-लखनऊ डेमू (74201), प्रतापगढ़ डेमू (74202) 12 जून तक निरस्त रहेंगी।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper