यूपी कांग्रेस में पड़ी फूट? सिराज मेहंदी ने पार्टी से दिया इस्तीफा, प्रियंका ने बुलाई बैठक

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सिराज मेहंदी ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया है. यूपी कांग्रेस की नई टीम का ऐलान होने के बाद से सिराज नाराज चल रहे थे. उन्होंने कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी पत्र लिखकर पार्टी में लिए गए फैसलों सवाल उठाए हैं. उन्होंने कहा कि पार्टी में जो फैसले हो रहे हैं उसमें सबको नहीं लिया जा रहा है.

‘नौजवान नहीं थे आजादी में शामिल सभी लोग’

सिराज मेहंदी ने कहा, “पार्टी में एक फैसला लिया गया है कि 50 साल से ऊपर के लोग एडजस्ट नहीं किए जा सकते. मैंने कहा कि देश जब आजाद हुआ था तो आजादी की लड़ाई में महात्मा गांधी, सरदार पटेल और मौलाना आजाद जैसे जो लोग शामिल हुए थे, सब नौजवान ही नहीं थे.”

उन्होंने कहा कि ‘आज भारतीय जनता पार्टी और RSS से हम सबकी लड़ाई है. इनसे लड़ने के लिए सबको एकजुट होना पड़ेगा. अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी में किसी शिया का प्रतिधिनित्व नहीं है. बीजेपी में शिया मंत्री और एमएलसी है. कांग्रेस में शिया कुछ नहीं है.’

‘बांटने का काम कर रही कांग्रेस’

सिराज मेहंदी ने कहा कि ‘हमने शिया-सुन्नी के लिए तमाम जलसे करवाए. कांग्रेस पार्टी ही अब बांटने का काम कर रही है. ये उचित नहीं है. मोतीलाल बोरा जी 92 साल के हैं और राष्ट्रीय महासचिव बनाए गए हैं.’ उन्होंने कहा कि हमने लिखा है कि प्रियंका गांधी जो फैसले ले रही हैं उससे पहले इतिहास पढ़ लिया करें. मैं कार्यकर्ता हूं. जहां बुलाया जाएगा चला जाऊंगा.

बता दें कि सिराज के इस्तीफे के बाद कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने 12 अक्टूबर को यूपी कांग्रेस की बैठक बुलाई है. ये बैठक दिल्ली में होगी. जानकारी के मुताबिक, कांग्रेस के वार रूम 15 जीआरजी में ये बैठक होगी.

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper