यूपी में फिर से लॉकडाउन, वीकेंड पर क्या कर सकेंगे और क्या नहीं

लखनऊ : कोरोना संकट के बीच उत्तर प्रदेश में वीकेंड लॉकडाउन में लग रहा है. उत्तर प्रदेश में कोरोना केस में लगातार वृद्धि हो रही है और योगी सरकार ने महामारी के संक्रमण पर अंकुश लगाने के लिए इस वीकेंड पर प्रदेश में लॉकडाउन का ऐलान किया है.

जानते हैं कि इस वीकेंड में यूपी में क्या कर सकेंगे और क्या नहीं. उत्तर प्रदेश में एक बार फिर लॉकडाउन लगाया जा रहा है और यह बंदिश शुक्रवार रात 10 बजे से 13 जुलाई की सुबह 5 बजे तक जारी रहेगी. प्रदेश में बढ़ते कोरोना केस पर काबू की कोशिश के तहत मुख्य सचिव राजेंद्र तिवारी ने लॉकडाउन के आदेश जारी किए हैं.

क्या बंद रहेगा

लॉकडाउन के दौरान प्रदेश के सभी शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों के बाजार, हाट, गल्ला मंडी और कार्यालय सब बंद रहेंगे.

क्या खुला रहेगा

लॉकडाउन के दौरान आवश्यक सेवाओं पर कोई रोक नहीं होगी. आवश्यक सेवाएं जैसे स्वास्थ्य और चिकित्सीय सेवा से जुड़ी आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति पहले की तरह होती रहेगी. इन सेवाओं से जुड़े लोगों के आने-जाने पर कोई प्रतिबंध नहीं होगा.

रेलवे का आवागमन पहले की तरह जारी रहेगा. साथ ही सड़क परिवहन में सिर्फ यूपी राज्य सड़क परिवहन की बसें चलेंगी.

घरेलू और अंतरराष्ट्रीय हवाई सेवाएं पहले की तरह रहेंगी. अंतरराष्ट्रीय उड़ानों पर अब भी रोक जारी है.

डोर-स्टेप डिलिवरी से जुड़े लोगों के आने-जाने पर कोई पाबंदी नहीं होगी.

कोरोना पर फुल कवरेज के लि‍ए यहां क्ल‍िक करें

लॉकडाउन के दौरान मालवाहक वाहनों के आवागमन पर कोई प्रतिबंध नहीं होगा.

राष्ट्रीय और राज्यीय राज्यमार्गों पर वाहनों की आवाजाही जारी रहेगी. साथ ही इनके किनारे स्थित पेट्रोल पंप और ढाबे भी खुले रहेंगे.

इस दौरान 10 से 12 जुलाई तक स्वच्छता एवं स्वच्छ पेयजल आपूर्ति के लिए वृहद अभियान चलाया जाएगा. इस अभियान में शामिल कर्मियों पर कोई प्रतिबंध नहीं होगा.

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper