यूपी में बदतर सड़कों की वजह से 987 लोगों की मृत्यु हुई : जयंत चौधरी

लखनऊ ब्यूरो । राष्ट्रीय लोकदल (रालोद) के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं पूर्व सांसद जयंत चौधरी ने कहा कि रेल विभाग की ‘बदइंतजामी’ और नागरिक सुरक्षा की अनदेखी की वजह से रायबरेली में न्यू फरक्का एक्सप्रेस दुर्घनाग्रस्त हुई है। उन्होंने रायबरेली में हुये रेल हादसे में पीड़ि़त परिवारों के प्रति गहरा दु:ख व्यक्त करते हुए कहा कि केंद्र सरकार को सुरक्षा मानकों की दृष्टि से रेलवे का रखरखाव करना चाहिए। ताकि ऐसी दुर्घनाओं को रोका जा सके।

जयंत चौधरी गुरुवार को प्रदेश रालोद के मुख्यालय में पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने देवरिया जिले में कहा था कि प्रदेश की सभी सड़कों को 15 जून 2017 तक गड्ढा मुक्त कर दिया जाएगा। अब सितम्बर 2018 चल रहा है फिर भी सड़कें गड्ढामुक्त नहीं हुई हैं बल्कि स्थिति बद से बदतर हो गयी है।

उन्होंने कहा कि एक आंकड़े के अनुसार वर्ष 2017 में सड़क की बदतर स्थिति (गड्ढा युक्त सड़क) की वजह से 3597 लोग काल के गाल में समा गये थे। जिसमें यूपी के लोगों की संख्या 987 है जो भारत में सबसे अधिक है। राष्ट्रीय उपाध्यक्ष ने कहा कि वास्तविकता यह है कि आतंकवादी घटनाओं में 803 लोगों की जीवनलीला समाप्त हुई, जबकि केवल यूपी में बदतर सड़कों की वजह से 987 लोगों की मृत्यु हुई हैं।
उन्होंने कहा कि योगी सरकार का दावा है कि प्रदेश की समस्त सड़कें गड्ढा मुक्त हो चुकी हैं। वास्तविक स्थिति इसके विपरीत है। ग्रामीण क्षेत्र की सड़क ही नहीं, राजमार्ग और राष्ट्रीय राजमार्ग तक क्षतिग्रस्त अवस्था में है और इनका ध्यान देने वाला कोई नहीं है।

चौधरी ने कहा कि योगी सरकार के गड्ढा मुक्त सड़कों के झूठ को उजागर करने के लिए राजधानी में गुरूवार से “सेल्फी विद गड्ढा” अभियान की शुरूआत की जा रही है। इसके साथ ही उन्होंने प्रदेश की जनता से अनुरोध करते हुये कहा कि जहां भी सड़क क्षतिग्रस्त (गड्ढा युक्त) नजर आए उस क्षतिग्रस्त सड़क के साथ अपनी सेल्फी लेकर व्हाट्स ऐप नंबर 9319676173 या ई मेल -swgaddha@gmail.com पर अपना नाम, पता, सड़क का नाम और जिला लिखकर पोस्ट करें। साथ ही हैशटैग #SelfieWithxïk तथा ट्विटर हैंडल @SwGaddha पर हमें टैग करें।

राष्ट्रीय उपाध्यक्ष ने कहा कि हमारी पार्टी प्रत्येक दशा में भारतीय जनता पार्टी को हराने के लिए  महागठबंधन की पक्षधर है, परन्तु अभी यह कहना कठिन है कि महागठबंधन राष्ट्रीय स्तर पर बनेगा अथवा प्रत्येक राज्य में अलग- अलग समान विचाराधारा के दलों के साथ बनेगा।
उन्होंने कहा कि किसान, मजदूर और नौजवान विरोधी भारतीय जनता पार्टी को प्रत्येक दशा में आने वाले लोकसभा चुनाव में शिकस्त दी जायेगी।

 

E-Paper