येदियुरप्पा को कर्नाटक का सीएम उम्मीदवार घोषित कर मोदी ने भ्रष्टाचार को लेकर उजागर किया अपना दोहरा चरित्र     

भोपाल। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अरूण यादव ने रविवार को चुनावी राज्य कर्नाटक में भाजपा द्वारा बेंगलूरू में संपन्न एक रैली को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा कर्नाटक में होने जा रहे आगामी विधानसभा चुनाव में भाजपा की ओर से मुख्यमंत्री के चेहरे के तौर पर येदियुरप्पा के नाम का ऐलान किये जाने पर प्रधानमंत्री पर राजनैतिक हमला बोला है। उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार जैसे अहम मुद्दे को लेकर केंद्र सरकार में काबिज हुए प्रधानमंत्री, जो बार-बार भ्रष्टाचार के खिलाफ संघर्ष किये जाने की बात दोहरा भी रहे हैं, उनका वास्तविक दोहरा चरित्र-चेहरा इस ऐलान से एक बार फिर उजागर हो गया है।

यादव ने प्रधानमंत्री को स्मरण दिलाते हुए कहा कि यह वे ही येदियुरप्पा हैं, जिन्हें कर्नाटक में ही 5 हजार करोड़ रूपयों के भूमि घोटाले के आरोप के कारण मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देना पड़ा था। मोदी द्वारा इन्हें फिर मुख्यमंत्री का चेहरा घोषित करना प्रधानमंत्री और भाजपा के भ्रष्टाचार को लेकर किस ईमानदार चरित्र का प्रतीक है?

यादव ने कहा कि हाल ही में प्रधानमंत्री श्री मोदी ने 28 जनवरी, 18 को राजधानी नई दिल्ली में भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई में एनसीसी केडेट्स से सहयोग मांगते हुए यह कहा था कि ‘‘पहले लोग सोचते थे कि भ्रष्टाचार के मामले में अमीर और ताकतवर लोगों को छुआ नहीं जाता, अब ऐसा नहीं है, बिहार के दो पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव, जगन्नाथ मिश्र चारा घोटाला और हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री ओमप्रकाश चौटाला भर्ती घोटाले में सजा काट रहे हैं।’’ उनके उक्त बयान के मात्र 1 सप्ताह बाद ही येदियुरप्पा को कर्नाटक में मुख्यमंत्री के तौर पर पेश किये जाने का प्रधानमंत्री का ऐलान क्या कहा जायेगा?

यादव ने यह भी कहा कि भ्रष्टाचार और भ्रष्टाचारियों को लेकर प्रधानमंत्री का चाल-चरित्र और चेहरा सदैव दोहरा नजर आ रहा है। मप्र का व्यापमं, सिंहस्थ, रेत का अवैध उत्खनन सहित सैकड़ों घपले-घोटाले, छत्तीसगढ़ में 1 लाख 50 हजार करोड़ रू. का पीडीएस एवं हेलीकॉप्टर खरीदी घोटाला, राजस्थान में खनन, गुजरात में 1500 करोड़ रू. का भूमि घोटाला और महाराष्ट्र में इंडियन ऑईल घोटाले पर प्रधानमंत्री ने बोलना तो ठीक, ट्वीट् करना भी उचित नहीं समझा है! शायद भ्रष्टाचार और भ्रष्टाचारियों को लेकर उनका और उनकी विचारधारा का यही चरित्र है?

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
loading...
E-Paper