ये हैं क्वारनटीन सेंटर का ‘पेटू’, रोजाना अकेले खा जाता है 40 रोटी, 85 लिट्टी, 100 समोसे और 10 प्लेट चावल, सब परेशान

बक्सर. लॉकडाउन के चलते दूसरे राज्यों से आ रहे मजदूरों को क्वारनटीन सेंटर में रखा गया है। इसी बीच बिहार के बक्सर क्वारनटीन सेंटर से अनोखा मामला सामने आया है। यहां एक व्यक्ति की भूख ने सभी को हैरान कर दिया है। आम तौर पर कोई व्यक्ति एक बार में 6-8 रोटी, सब्जी, दाल खाता है। लेकिन यदि कोई इंसान एक बार में 40 रोटियां खाए तो हैरान होनी स्वभाविक है। हम आपको जिस शख्स के बारे में बता रहे हैं वह करीब 10 लोगों का खाना अकेले ही खा जाता है। ऐसे में क्वारनटीन सेंटर के लिए बड़ी मुश्किल खड़ी हो गई।

युवक का नाम है अनूप ओझा जो मझवारी क्वारनटीन सेंटर में है। 21 वर्षीय यह युवक इन दिनों अपने खाने को लेकर चर्चा में है। बता दें क्वारनटीन सेंटर में प्रवासियों को नाश्ते में लिट्टी चोखा मिला। लेकिन अनूप अकेले ही 85 लिट्टी खा गया। आमतौर पर अनूप एक बार में 8-10 प्लेट चावल और 35-40 रोटियां और दाल-सब्जी खाता है। क्वारनटीन सेंटर में अनूप ओझा का भोजन जुटाने में विभाग से ज्यादा रसोइयों के ज्यादा पसीने छूटते हैं। जब युवक की डाइट के बारे में अंचलाधिकारी को सूचना मिली तो वह उससे मिलने पहुंच गए और युवक का खाना देख वो भी हैरान हो गए। वहीं, अनूप के गांव के लोगों का कहना है कि वो बहुत पहले से ही अधिक खाता है।

भारत में टिड्डी दल का बड़ा हमला, एक दिन में खा जाती हैं 10 हाथियों के बराबर खाना, भगाने के लिए अनोखे जतन

जानकारी के मुताबिक, एक बार तो शर्त लगाने पर अनूप ने अकेले ही 100 से ज्यादा समोसे भी हजम कर लिए। जानकारी के मुताबिक, अनूप बक्सर जिला के ही सिमरी प्रखंड के खरहाटांड़ गांव निवासी गोपाल ओझा के पुत्र हैं और एक सप्ताह पहले ही अपने घर जाने के क्रम में क्वारनटीन केंद्र में आए हैं। परिजनों ने बताया कि अनूप लॉकडाउन से पहले राजस्थान रोजी-रोटी की तलाश में गए थे लेकिन इसी दौरान पूरा देश लॉकडाउन हो गया और वो डेढ़ महीने से ज्यादा समय तक राजस्थान में ही फंसे रहे।

अनूप जिस क्वारनटीन सेंटर में हैं, वहां 87 प्रवासियों को रखा गया है, लेकिन अनूप के कारण यहां खाना 100 से ज्यादा लोगों के लिए बनाया जाता है। ऐसी बात नहीं कि क्वारनटीन सेंटर में वह ज्यादा खा रहे हैं। आम दिनों में घर पर वह इतना ही खाना खाते हैं। अनूप की कद काठी सामान्य है और उनका वजन 70 किलोग्राम है। अनूप का यह दावा भी है कि वह अकेले 5-6 लोगों के बराबर काम करते हैं। अनूप से बात करने के बाद अंचलाधिकारी ने सेंटर पर नियुक्त कर्मियों को निर्देश दिया है कि अनूप को भरपूर भोजन दिया जाए।

चीन में कोरोना पार्ट 2: पहले से बहुत अलग है वायरस का रूप, एक्‍सपर्ट का दावा – ज्यादा खतरनाक

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper