ये है दुनिया की अजीबोगरीब जेल, जहां कैदी परिवार के साथ काट सकते है सजा

नई दिल्ली: दुनिया में कई ऐसी जेल अच्छी सुविधाओं के लिए भी जानी जाती है तो कोई कैदियों के प्रति अपनी क्रूरता के लिए जानी जाती है। आज हम आपको दुनिया की ऐसी ही अजीबोगरीब जेलों के बारे में बताने जा रहे हैं, जो अलग वजह से जाने जाती हैं। कहीं कैदियों को अपने परिवार के साथ रहने की छूट है तो कहीं कैदियों के लिए संगीत की व्यवस्था है।

फिलीपींस की यह जेल किसी डिस्को से कम नहीं है इसका नाम है सेबू जेल। इस जेल का माहौल ही ऐसा है कि यहां कैदी कभी बोर नहीं होते है। उनके लिए यहां संगीत की व्यवस्था की गई है, जिससे वो अपना पूरा मनोरंजन कर सकते हैं। यहां के कैदियों के एक डांसिंग वीडियो को अमेरिका की मशहूर पत्रिका ने अपनी वायरल वीडियोज की सूची में पांचवें नंबर पर रखा था।

फिलीपींस प्रशासन और यहां के लोगों का मानना है कि संगीत और नृत्य दोनों ही एक दवाई की तरह काम करते हैं, जो पुरानी जिंदगी के गमों से छुटकारा दिला सकते हैं और एक नई जिंदगी की शुरुआत करा सकते हैं।

ऑस्ट्रिया की यह जेल किसी फाइव स्टार होटल से कम नहीं है। पूरी तरह से कांच से ढंकी हुई इस जेल का नाम ‘जस्टिस सेंटर लियोबेन’ है। यहां जिम से लेकर स्पोर्ट्स सेंटर और कैदियों के लिए निजी आलीशान कमरे बनाए गए हैं, जिसमें टीवी से लेकर फ्रीज तक सभी जरूरी चीजें उपलब्ध हैं। यहां कैदियों को अपने परिवार के साथ रहने की छूट दी गई है। सेलों के अंदर छोटे बच्चों के लिए दीवारों पर कार्टून बनाए गए हैं। उनके लिए यहां स्कूल और प्लेग्राउंड की भी व्यवस्था है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper