योगी आदित्यनाथ ने आधुनिक आलमबाग बस टर्मिनल जनता को सौंपा

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को आधुनिक सुविधाओं से लैस आलमबाग बस अड्डे का उद्घाटन किया। इस मौके पर आलमबाग बस टर्मिनल से छपिया (गोण्डा) और अयोध्या तक की दो बसों को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। इस दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि परिवहन निगम ने बीते एक साल में बेहतर काम किया है। इसके चलते यह विभाग फायदे में है। इस दौरान मुख्यमंत्री ने कुंभ 2019 के लिए परिवहन निगम की ओर से विशेष सुविधाएं देने का भी ऐलान किया। उन्होंने कहा कि आलमबाग बस अड्डे की तर्ज पर प्रदेश में 21 और बस अड्डों का निर्माण किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि आज निजी भागीदारी के आधार पर ये कार्यक्रम हो रहा है आने वाले समय में ऐसे ही 21 और बस टर्मिनलों पर काम हो रहा है। लखनऊ में गोमतीनगर और चारबाग में भी होगा। उन्होंने कहा कि लगभग 23 बस स्टैंडों का भी नवनिर्माण का काम परिवहन निगम काम कर रहा है । योगी आदित्यनाथ ने कहा कि पहले बहुत सारे राज्यों में यूपी परिवहन निगम की बसे नहीं जा पाती थीं। उनके लिए हमने व्यवस्था की है। उत्तराखण्ड, राजस्थान हरियाणा जम्मू कश्मीर सरकार के साथ एमओयू किया है। उन्होंने कहा कि महिला सुरक्षा के लिए भी सरकार काम बड़े स्तर पर काम कर रही है ।

योगी आदित्यनाथ ने कहा कि परिवहन विभाग प्रदेश वासियों को एक अनुपम कृति भेंट कर रहे हैं। आवागमन की सुविधा जितना बेहतर बनाएंगे विकास की गति उतनी ही तेज होगी। प्रदेश का पहला बस स्टेशन है जहां पर मेट्रो और बस स्टेशन एक साथ हैं। इस दौरान उन्होंने कहा कि आज उत्तर प्रदेश की देश के पांच टॉप राज्यों में गिनती होने लगी है। स्किल डेवलमेंट में प्रदेश एक नम्बर पर है। 23 जनपदों में बस स्टेशन का निर्माण कार्य शुरू किया जा रहा है। वहीं उन्होंने नेपाल(जनकपुर-अयोध्या) भारत के बीच शुरू हुई बस सेवा की तारीफ की और प्रधानमंत्री को धन्यवाद दिया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि तकनीकी शिक्षा व स्किल डेवलपमेंट में सरकार देश में एक नम्बर पर आ रही है। प्रदेश के अंदर 1 लाख 20 हजार किलोमीटर सड़क को गड्डा मुक्त किया गया है। मेट्रो जैसी सुविधा भी हम उत्तर प्रदेश के कई जिलों में शुरू करने की योजना बना रहे हैं। परिवहन निगम की बसों में यूपी और जहां बाहर यूपी की बसे चलती हैं वहां दिव्यांगों को भी बस सेवा का अधिकाधिक लाभ देंगे। पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप के तहत करीब ढाई करोड़ की लागत से बने इस बस अड्डे में एसी वेटिंग हॉल, नि:शुल्क ठंडा पेयजल,आरामदायक बेंच, सबवे से प्लेटफार्म रूट, फूडकोर्ट के लिए लिफ्ट, एटीएम, बैंक, ऑटोमैटिक एनॉउसमेंट जैसी सुविधाएं उपलब्ध हैं।

उपमुख्यमंत्री डॉ दिनेश शर्मा ने कहा कि हमारे मुख्यमंत्री ने पूरे प्रदेश में समग्र विकास का खाका तैयार किया है। एक साल में 200 माध्यमिक विद्यालय बन रहे हैं। सस्ती दरों पर जल्द ही हम लोग हवाई यात्रा करेंगे। नेक नियति के कारण यूपी बदल रहा है। मेरा कुछ भी नहीं सब जनता का है, ऐसे मूल मंत्र को मानने वाली सरकार दूसरों दलों से भिन्न है। डॉ शर्मा ने कहा कि मैं सभी को साधुवाद दूंगा ​कि इतने आधुनिक बस स्टैंड का काम पूरा हुआ है, हमारी सरकार में मेट्रो के साथ बस स्टैंड का काम बड़ी उपलब्धता है। उन्होंने कहा कि यह उत्तर प्रदेश का बदलता स्वरूप है,जहां पूर्वांचल एक्सप्रेस वे होगा, जहां निवेश होगा और जहां ऐसा अत्याधुनिक बस स्टैंड होगा। उत्तर प्रदेश बदल रहा है, विकास के पथ पर आगे चल रहा है।

परिवहन मंत्री स्वतंत्र देव ने कहा कि योगी आदित्यनाथ सरकार आने के बाद गरीबों के लिए काम हो रहा है। बसों में अधिकतर गरीब घूमते हैं औऱ हमारी सरकार उनके लिए काम कर रही है। उन्होंने कहा कि सरकार पंडित दीनदयाल के कदमों पर चल रही है। गरीबों की सेवा सिर्फ हमारी सरकार कर रही है। कैबिनेट मंत्री रीता बहुगुणा ने कहा कि योगी सरकार में लगातार विकास हो रहा है, परिवहन विभाग का यह एक बड़ा कदम है । मैं सभी का अभिनंदन करती हूं। इस मौके पर उत्तर प्रदेश के न्याय विधि मंत्री ब्रजेश पाठक,आशुतोष टंडन, महेंद्र सिंह,स्वाति सिंह, बलदेव औलख, महापौर संयुक्ता भाटिया समेत अनेक लोग मौजूद रहे।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper