राखी का ऑनलाइन बाजार हुआ गर्म

फरीदाबाद: बाजार की भीड़भाड़ और मोलभाव से दूर अब एक क्लिक पर भाई के लिए राखी तिलक थाली और बहना के लिए खास उपहार खरीदे जा रहे हैं। रक्षाबंधन से पहले खरीदारी का ऑनलाइन बाजार गर्म हो चुका है। युवाओं के बीच ऑनलाइन खरीदारी के बढ़ते क्रेज को देखते हुए कंपनियों के बीच भी राखी स्पेशल सीजन के तहत राखियों की बेहतरीन वैरायटी के साथ खास छूट और लाभ देने की होड़ मची है।

समय के साथ ऑनलाइन बाजार हर त्योहार पर हावी होता जा रहा है। लोगों के लिए भी समय निकालकर खरीदारी करने के बजाय एक ऑर्डर पर सामान मंगाना आसान विकल्प है। ऐसे में कुछ ही दिनों में आने वाले राखी के त्योहार के लिए ऑनलाइन बाजार सज चुके हैं। युवाओं की मानें तो ऑनलाइन खरीदारी में जहां उन्हें बेहतर विकल्प और ऑफर मिल रहे हैं वहीं घर बैठे सामान आसानी से मिल जाता है। राखियों की हर तरह की वैरायटी वेबसाइट्स पर उपलब्ध हैं। स्पेशल पैकेज और गिफ्ट हैम्पर्स की भरमार राखियों की ऑनलाइन शॉपिंग वेबसाइट्स में स्पेशल पैकेज और गिफ्ट हैम्पर्स की भरमार है।

भाई-बहन दोनों के लिए रक्षाबंधन सूत्र, भाई-भाभी के लिए राखी का जोड़ा, बहना के लिए स्पेशल उपहार, भाई के लिए खूबसूरत राखियां और गिफ्ट जैसे कोम्बो खासतौर पर मौजूद हैं। हर रेंज में उपलब्ध उपहारों की खरीददारी यहां की जा सकती है। सोशल नेटवर्किंग साइट्स पर भी राखी की खरीदारी के लिए ऑनलाइन वेबसाइट्स के लिंक शेयर हो रहे हैं। इनकी कीमत 10 रुपये से लेकर हजारों तक हैं।

इनके बीच इको फ्रेंडली राखी, प्लांटेबल राखी, हैंडमेड राखी, गोल्ड राखी, थ्रेड राखी, सिल्वर राखी, कुंदन राखी जैसी कई आकर्षक वैरायटी मौजूद हैं। उधर, बाजार में भी 20 से हजारों रुपये तक की राखियां मौजूद हैं। वेबसाइट्स पर राखियों की कई वैरायटी मौजूद हैं। इनमें रेगुलर राखी, फैंसी राखी, किड्स राखी, लुंबा राखी, रुद्राक्ष राखी, सिल्वर एंड गोल्डन राखी, राखी फैमिली सैट्स, भैया-भाभी राखी शामिल हैं। राखी विद ड्रायफ्रूट्स, राकी विद स्वीट्स, राखी विद चॉकलेट्स, डिजाइनर राखी कोम्बो मौजूद हैं। बच्चों के लिए डोरेमोन, छोटा भीम, सुपरमैन, बाल हनुमान, गणेशा, टेडी बीयर, लाइट एंड म्यूजिकल राखी खास है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper