रात में सोने से पहले इसे पी लिया तो शरीर की चर्बी मोम की तरह पिंगल जाएगी, यकीन ना हो तो खुद देख लो

आज के समय पर जितनी ज्यादा सुविधाएं होने लगी हैं उतनी ही बीमारियां बढ़ने लगी हैं. बीमारियों की बात करें तो ज्यादातर लोग मोटापे से परेशान हैं. बढ़ते वजन की वजह से ना केवल लोग तनाव और डिप्रेशन के शिकार हो रहे हैं, बल्कि कोई भी काम ठीक ढंग से ना करने से भी परेशान हैं. ऐसे में कई लोगों ने अपना खाना-पीना भी कम कर दिया है उसके बावजूद उन्हें बढ़ते वजन से निजात नहीं मिल रहा है. आपकी इस परेशानी को दूर करने के लिए आज हम आपके लिए एक ऐसा नुस्खा लाये हैं जिसे आजमाने के बाद आप महीनेभर में आपने आपको पहचान नहीं पायेंगे.

इस नुस्खे में सिर्फ आपको आसान सी 2 चीजों का सेवन करना होगा, वो भी जो बिल्कु फ्री में मिलती हैं. जी हां…हम जिस घरेलू नुस्खे की बात कर रहे हैं वो हरी धनिया और नीबू है. हरी धनिया में कैल्शियम, फास्फोरस, आयरन, कैरोटीन, थियामीन, पोटोशियम और विटामिन  की मौजूदगी पेट की चर्बी को कम करती है. साथ ही हरी धनिया का सेवन करने से आंखों की रोशनी, कमजोरी, श्वासन रोग, त्वचा संबंधित रोग, नींद ना आने, लू लगने जैसी कई बीमारियों में आराम मिलता है.

वजन कम करने के लिए हरी धनिया की जड़े हटाकर उसे उसकी लकड़ियों के साथ पीस लेना है, क्योंकि उसकी लड़कियों में बहुत पोष्टिक होता है जो महिलाएं सब्जी में डालते वक्त हटा देती हैं. हरी धनिया में उसमें एक नींबू निचोड़कर मिक्स कर लेना है उसके बाद एक गिल्सा गर्म पानी में 2 चम्मच हरी धनिया का पेस्ट मिलाना है और अच्छे से घोलने के बाद पीना है. ध्यान रहे गिलास कांच का ही हो और पानी अच्छी तरह उबला हुआ हो. एक महीने तक लगातार इस घोल को पी लिया तो आपके पेट की चर्बी खुद वा खुद खत्म हो जायेगी.

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------ ------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper