राफेल मामले में मोदी के खिलाफ एफआईआर दर्ज करना चाहते थे आलोक वर्मा: प्रशांत भूषण

दिल्ली ब्यूरो: प्रधानमंत्री मोदी की अध्यक्षता वाली उच्च स्तरीय कमेटी ने सीबीआई प्रमुख आलोक वर्मा को पद से हटाने के बाद वरिष्ठ वकील प्रशांत भूषण ने कहा है कि आलोक वर्मा प्रधानमंत्री मोदी के ऊपर राफेल मामले में एफ़आईआर दर्ज कराना चाहते थे, इसीलिए सरकार ने उन्हें हटा दिया है।

सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ वकील प्रशांत भूषण ने एक ट्वीट कर कहा है, “सीबीआई निदेशक का पद दोबारा संभालने के बाद आलोक वर्मा को प्रधानमंत्री के नेतृत्व में बनी एक उच्च स्तरीय कमिटी ने हटा दिया है। सरकार ने आलोक वर्मा का पक्ष सुने बिना ही फ़ैसला ले लिया। आलोक वर्मा राफ़ेल घोटाले मामले में प्रधानमंत्री मोदी के ऊपर एफ़आईआर दर्ज करने जा रहे थे, मोदी सरकार राफ़ेल मामले में जांच से डरी हुई है।

बता दें कि सीबीआई के दो शीर्ष अधिकारियों के बीच विवाद के बाद मोदी सरकार ने आलोक वर्मा को लंबी छुट्टी पर भेज दिया था। बुधवार को इस मामले पर सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने फिर से आलोक वर्मा को सीबीआई निदेशक पद पर बहाल कर दिया था। कोर्ट ने आलोक वर्मा को छुट्टी पर भेजे जाने के फ़ैसले को नियमों का उल्लंघन बताया था।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper