राष्ट्रपिता के हत्यारे काे देशभक्त बताने वाला बयान निंदनीय: सिंधिया

ग्वालियर: कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व केन्द्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने आज कहा कि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के हत्यारे को देशभक्त बताने वाला बयान निंदनीय है। सिंधिया ने यहां मीडिया से चर्चा में कहा कि जिस व्यक्ति ने राष्ट्रपिता की हत्या की, उसका तो नाम तक लेना गलत है, लेकिन भाजपा के सांसद उसे देशभक्त बताते हैं। ऐसे कृत्य की जितनी निंदा की जाए, उतनी कम है। उन्होंने कहा कि भाजपा के एक सांसद पहले भी राष्ट्रपिता के हत्यारे को देशभक्त बता चुके हैं। अब दूसरे सांसद ने यह बात कही है।

पूर्व केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि पिछली सरकार के समय वर्ष 2014 में भी भाजपा के एक सांसद ने गोडसे को देशभक्त कहा था, तो उन्होंने संसद में इसका विरोध किया था। फिर सरकार ने सांसद से माफी मांगने को कहा था। अब एक बार दूसरे सांसद ने यह बात कही है। यह तो प्रवृत्ति बन गयी है कि जो पार्टी अनुशासन की बात करती है, उसके सांसद अपने नेताओं या पार्टी की ही नहीं, देश के प्रति भी अनुशासनहीनता दिखा रहे हैं।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper