राष्ट्र ने पुलवामा शहीदों को श्रद्धांजलि दी

श्रीनगर: सीआरपीएफ ने शुक्रवार को जम्मू-कश्मीर के पुलवामा जिले में आतंकवादी हमले में शहीद हुए 40 जवानों की पहली पुण्यतिथि पर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की। सीआरपीएफ ने एक ट्वीट में कहा, “‘तुम्हारे शौर्य के गीत, कर्कश शोर में खोये नहीं। गर्व इतना था कि हम देर तक रोये नहीं।’ हम न भूले हैं, न माफ किया है : हम पुलवामा में राष्ट्र की सेवा में अपने जीवन का बलिदान देने वाले अपने भाइयों को सलाम करते हैं। हम आभारी हैं, हम अपने बहादुर शहीदों के परिवारों के साथ खड़े हैं।”

14 फरवरी, 2019 को पुलवामा में जैश-ए-मोहम्मद (जेईएम) के एक आत्मघाती हमलावर के उनके काफिले पर हमला करने के बाद 40 से अधिक सीआरपीएफ जवान शहीद हो गए थे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर आतंकी हमले में जान गंवाने वाले सीआरपीएफ जवानों को श्रद्धांजलि दी। मोदी ने ट्वीट किया, “पिछले साल भीषण पुलवामा हमले में जान गंवाने वाले बहादुर शहीदों को श्रद्धांजलि। वे असाधारण शख्सित थे जिन्होंने हमारे देश की सेवा और रक्षा के लिए अपना जीवन समर्पित कर दिया। भारत उनकी शहादत को कभी नहीं भूलेगा।”

केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने भी ट्वीट कर शहीद सैनिकों को याद किया। उन्होंने कहा, “2019 में इस दिन पुलवामा (जम्मू-कश्मीर) में हुए नृशंस हमले के दौरान शहीद हुए सीआरपीएफ जवानों को याद कर रहा हूं।” उन्होंने कहा, “भारत उनके बलिदान को कभी नहीं भूलेगा। पूरा देश आतंकवाद के खिलाफ एकजुट है और हम इस खतरे के खिलाफ अपनी लड़ाई जारी रखने के लिए प्रतिबद्ध हैं।”

शुक्रवार को पुलवामा के लेथपोरा में शहीद सीआरपीएफ जवानों की याद में एक समारोह आयोजित किया जाएगा। सैनिकों की स्मृति में समर्पित एक शहीद स्तंभ का समारोह में उद्घाटन किया जाएगा।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper