रिसर्च में खुलासा, जिन मर्दों की होती है मोटी पत्नी, वो रहते हैं ज्यादा खुश

नई दिल्ली: भले ही मर्दों को लंबी, दुबली लड़कियां भाती हैं लेकिन स्टडी बताती है कि वजनी लड़कियों के साथ शादी या प्रेम में पड़े मर्द ज्यादा खुश रहते हैं। नेशनल ऑटोनॉमस यूनिवर्सिटी ऑफ मैक्सिको में ये स्टडी हुई जिसके अनुसार कर्वी, प्लस साइज महिलाओं के जीवनसाथी दुबली महिलाओं के साथियों से 10 गुना ज्यादा खुश रहते हैं।

मोटी महिलाएं अपने साथी पर जिम जाने और फिट रहने का दबाव नहीं डालती हैं। व खुद भी वजन कम करने की कोशिश नहीं करती हैं और साथ खाना पसंद करती हैं। मोटी महिलाओं के प्रेम में पड़े पुरुष ज्यादा मुस्कुराते हैं और जीवन के लिए उनका रवैया ज्यादा सकारात्मक होता है।

वे ज्यादा खुशदिल होती हैं और उनका सेंस ऑफ ह्यूमर ज्यादा बेहतर होता है। ऐसी महिलाओं के सामने खुलकर बोलना, खुद को व्यक्त करना ज्यादा आसान होता है। कर्वी महिलाएं छोटे-छोटे तोहफों पर खुश हो जाती हैं। जो जोड़े साथ मिलकर हंसते हैं, उनकी जिंदगी बेहतर होती है और रिश्ता टिकाऊ होता है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper