रिसर्च में खुलासा : मोटापा रोकने में रामबाण साबित हो सकता है ये फल !

सेहत डेस्क: अमेजन प्रजाति के फल कमू- कमू के एक छोटे से अंश का सेवन मोटापा रोकने में कारगर हो सकता है। एक शोध में पाया गया है कि शूगर से भरपूर डाइट लेने पर भी यह मोटापे को कंट्रोल करता है। कमू-कमू का कैमिकल कंपोजिशन ही ऐसा है कि यह मोटापे को रोकता है।

कमू-कमू में कीवी नामक फल से 20 से 30 गुना अधिक विटामिन सी की मात्रा पाई जाती है और ब्लैकबेरी से 5 गुना अधिक पॉलिफिनोल की मात्रा होती है। चूहे पर किए गए इस स्टडी में रिसर्चर ने पाया है कि कमू के अंदर मोटापे को खत्म करने वाले ऐसे तत्वों की मात्रा रहती है जिससे चूहे में रेस्टिंग मेटाबॉलिज्म की मात्रा बढ़ जाती है और यह मोटापे को रोकने में कारगर होता है। कमू-कमू से चूहे के शरीर में ग्लूकोज टॉलरेंस में भी सुधार देखा गया।

शोध के दौरान चूहे के दो ग्रुप को शूगर से भरपूर भरपूर खाना आठ सप्ताह तक खिलाया। इसी दौरान एक ग्रुप के चूहों को कमू-कमू हर दिन खिलाया गया। इसके बाद शोध के नतीजों को जब रिसर्चरों ने देखा तो उन्हें पता चला कि कमू-कमू जिन चूहों को खिलाया उनका वजन दूसरों की तुलना में 50 प्रतिशत कम बढ़ा। कमू-कमू खाने वाले चूहों में वजन बढ़ने की गति भी उन चूहों के बराबर पाई गई जो बिल्कुल ही सामान्य भोजन करते हैं।

ट्रांसप्लानटेशन के जरिए जिन चूहों को कमू-कमू खिलाया गया उनका जब इंटेस्टाइनल माइक्रोबायोटा दूसरे ग्रुप के चूहों में डाला गया तो परिणाम वही मोटापे कम करने वाले निकले। अब रिसर्चर इस बात पर शोध कर रहे हैं कि कमू-कमू का क्या ऐसा ही इफैक्ट इंसानों पर होगा। वैसे आज भी कमू-कमू फल को थकान, तनाव आदि कम करने वाला माना जाता है।

(रुचिरा) एवोकाडो के फल को भी मोटापा रोकने में कारगर माना जाता है।
साइट्रस फल- ऐसे फल जिनमें फाइबर की अघिकता रहती है और विटामिन सी की मात्रा भी अधिक रहती है वो मोटापे को रोकते हैं।
बेर के फल भी मोटापे रोकने में बड़े मददगार साबित होते हैं।
अनार, सेब आदि फल भी मोटापे को रोकते हैं।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
loading...
E-Paper