लखनऊ के पहले पुलिस आयुक्त ने कहा, बेहतर और स्मार्ट पुलिसिंग प्राथमिकता

लखनऊ: उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के पहले पुलिस आयुक्त सुजीत पांडेय ने बुधवार को कार्यभार संभाल लिया है। उन्होंने कहा है कि बेहतर और स्मार्ट पुलिसिंग उनकी प्राथमिकता होगी। पदभार ग्रहण करने के बाद पुलिस आयुक्त सुजीत पांडेय ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को धन्यवाद करते हुए कहा, “उन्होंने (मुख्यमंत्री) मेरे ऊपर जो भरोसा जताया है, मैं पूरी ईमानदारी से उसे निभाऊंगा। मैं पूरी ईमानदारी के साथ काम करूंगा।”

सुजीत पांडेय ने अपनी प्राथमिकताएं गिनाते हुए कहा कि “बेहतर पुलिसिंग और स्मार्ट पुलिसिंग की हमारी प्राथमिकता है।” उन्होंने कहा कि “अपराधियों पर जितनी कठोर कार्रवाई संभव होगी की जाएगी। महिलाओं पर अत्याचार को लेकर हम और अधिक संवेदनशील होंगे।” पुलिस आयुक्त ने कहा कि पुलिस आयुक्त प्रणाली प्रदेश के लिए एक बड़ा बदलाव है, और सरकार ने उन पर जो भरोसा जताया है, उस पर वह खरा उतरने की कोशिश करेंगे।

सुजीत पांडेय ने कहा कि उनकी और टीम की “पूरी कोशिश होगी कि नागरिक केंद्रित सेवाओं में और सुधार किया जाए। यूपी 112, यूपी कॉप एप जैसी जन सुविधाओं को और बेहतर करने के प्रयास किए जाएंगे।” उन्होंने कहा कि “इन सबके लिए उन्हें और अधिक मेहनत करनी होगी। नई व्यवस्था लागू होने के साथ ही नई जिम्मेदारियां मिल रही हैं। इससे चुनौतियां बढ़ जाती हैं।”

पांडेय ने कहा कि “मैं चाहता हूं की सभी अधिकारी अपनी जिम्मेदारी को बखूबी निभाएं। छोटी से छोटी चीज को हम प्राथमिकता देंगे। यहां की ट्रैफिक व्यवस्था, छोटे से छोटे क्राइम को हम गंभीरता से लेंगे। हम व्यवस्था को दुरुस्त करने के लिए समय-समय पर पुलिस कर्मियों को ट्रेनिंग भी देंगे।” पुलिस आयुक्त ने कहा कि जो अधिकार उन्हें मिल रहे हैं, उनका वह निष्पक्ष रूप से सोच समझ कर सदुपयोग करेंगे।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper