लखनऊ: कैंट में शव मिलने से मचा हड़कंप

लखनऊ: उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ से बड़ी खबर आ रही है। राजधानी के कैंट थाना क्षेत्र में शुक्रवार सुबह रेलवे लाइन के किनारे एक युवक के शव मिलने से इलाके में हड़कंप मच गया। सूचना मिलते ही पुलिस और जीआरपी के आलाधिकारी मौके पर पहुंच गए। फिलहाल पुलिस ने शव को कब्जे में ले लिया है। और मामले की छानबीन में जुट गई है।

वहीं दूसरा मामला लखनऊ के काकोरी क्षेत्र से है जहां के भलिया गांव निवासी मोटर मैकेनिक 18 वर्षीय सुधीर रावत की पीट-पीटकर हत्या के बाद शव आम के बाग में फेंक दिया गया। गुस्साए ग्रामीणों ने हंगामा किया तो पुलिस मौके पर पहुंच गई। सुधीर के परिवारीजनों का कहना है कि उसका गांव की एक लड़की से प्रेम प्रसंग चल रहा था। लड़की के परिवारीजनों पर हत्या का आरोप लगाते हुए जांच की मांग की और शव लेकर आगरा एक्सप्रेस वे में धरना-प्रदर्शन शुरू कर दिया।

ग्रामीणों ने दोनों तरफ पत्थर बिछाकर रास्ता बंद कर दिया। सांसद कौशल किशोर ने मौके पर पहुंचकर लोगों को समझाया। इसके बाद शव पोस्टमार्टम के लिए भेजा जा सका। प्रभारी निरीक्षक संजय पांडेय ने बताया कि सुधीर रावत अपनी मां व नरेगा मजदूर केतकी और छोटी बहन शशि के साथ रहता था।

पिता जगत पाल रावत की उसके बचपन में ही मौत हो चुकी है। मंगलवार दोपहर वह चोकर लेने के लिए मां से 800 रुपये लेकर निकला था। शाम सात बजे तक उसे बाजार में भंडारे में पूरी-सब्जी बांटते हुए देखा गया। इसके बाद वह घर नहीं लौटा। परिवारीजनों ने खोजबीन की लेकिन कुछ पता नहीं चला। बुधवार सुबह दयाल मौर्या के आम के बाग में उसका शव मिलने से सबके होश उड़ गए। मृतक के शरीर पर चोटों के निशान थे। शव के पास बालों की एक चिमटी और सुधीर का मोबाइल फोन पड़ा था।

केतकी ने बताया कि सुधीर का गांव की लड़की से प्रेम प्रसंग था। कई बार लड़की के परिवारीजन उसके साथ मारपीट कर चुके हैं। कुछ दिन पहले भी उसे पांच-छह लड़कों ने पीटा था। सूचना पाकर आई पुलिस ने मृतक के कपड़ों की तलाशी ली तो जेब से दो रुपये का एक सिक्का मिला। केतकी ने कहा कि हत्यारों ने उसकी पिटाई के बाद रुपये लूट लिए।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper