लखनऊ नगर निगम करेगा गाय दान

लखनऊ: उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ का नगर निगम अब गाय पालने वालों को गाय दान में देगा। यही नहीं, गाय के साथ 30 रुपये प्रति गाय के हिसाब से खुराक भी दिया जाएगा। लखनऊ के नगर आयुक्त इन्द्रमणि त्रिपाठी ने बताया, “हमें लगभग 4,500 गायों को दान करने का लक्ष्य शासन ने दिया है। हर व्यक्ति को चार गाय के हिसाब से देना होगा। इसमें गाय पालने वाले को 30 रुपये प्रति गाय के हिसाब से खुराकी भी मिलेगी।”

उन्होंने बताया, “गाय पालने वाले को शपथ पत्र देना होगा, गाय पालने की जगह का ब्यौरा भी देना होगा। इसके लिए हमारी गौशाला से वह गाय गोद ले सकता है। इसके एवज में उसे हर माह 900 रुपये दिए जाएंगे। गौशाला में जिस प्रकार की गायें हैं, उन्हें दान देना है।”

त्रिपाठी ने बताया, “हमारे पास 3,500 गायें हैं, 7500 साड़ हैं। इसके लिए डीएम ने अलग-अलग नगर पंचायत और नगर पलिकाओं को भी लक्ष्य दिया है। वैसे पूरे लखनऊ में 9079 गायों को दान करने का लक्ष्य है। इसमें ब्लॉकों से 4,547 गायें, जबकि नगर पंचायत क्षेत्र से 4,532 गायें वितरित की जानी हैं।”

नगर आयुक्त ने बताया, “अभी हमारे पास कान्हा उपवन गौशाला में 3,500 गायें हैं। अभी अभियान चलाकर और पकड़ी जाएंगी। इनकी संख्या बढ़नी ही है। सरकार की मंशा है कि जनसहभागिता के माध्यम से अगर इस कार्य को अंजाम दिया जाए तो गायें भी पल जाएंगी और लोगों का होने वाला नुकसान भी बच जाएगा।”

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper