लखनऊ में अराजक तत्वों ने तोड़ी आंबेडकर की मूर्ति, फोर्स तैनात

लखनऊ: राजधानी के इंटौजा थाना क्षेत्र स्थित एक गांव में स्थापित बाबा साहब डॉ. भीमराव आंबेडकर की मूर्ति खंडित होने पर ग्रामीणों ने जमकर हंगामा किया। सड़क जाम कर पुलिस प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी शुरु कर दी। सूचना पाकर मौके पर पहुंचे जिला व पुलिस प्रशासन के अधिकारियों ने कार्रवाई का भरोसा देकर ग्रामीणों को शांत कराया।

मामला इटौंजा थाना क्षेत्र के चतुराबाग गांव का है। जहां ग्रामीण लोगों ने संविधान निर्माता बाबा साहब की मूर्ति लगवायी थी। मंगलवार को अराजक तत्वों ने मूर्ति को खंडित कर दी। मूर्ति टूटी होने पर क्षेत्रीय लोग आक्रोशित हो गये। ग्रामीणों ने सड़क जाम कर सरकार विरोधी नारेबाजी शुरु कर दी।

सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने लोगों को समझाने का प्रयास किया, लेकिन आक्रोश बढ़ता देख पुलिस फोर्स बुला ली गई। मामला अधिक बढ़ने पर उप जिलाधिकारी पल्लवी मिश्रा, थाना प्रभारी शिवशंकर सिंह भारी पुलिस फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे।

उपजिलाधिकारी ने बताया कि खंडित मूर्ति की जगह बाबा साहब की नयी मूर्ति स्थापित कराये जाने की बात पर ग्रामीण शांत हुये हैं। कुछ अराजक तत्वों ने की माहौल बिगाड़ने की पूरी कोशिश की है, उन्हें चिन्हित किया जा रहा है। फिलहाल गांव का माहौल पूरी तरह से शांत है। ऐतिहातन तौर पर पुलिस को लगाया गया है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper