लॉकडाउन के दौरान इन्हें मिली आवाजाही की छूट, पुलिस रोके तो मिलाएं ये नंबर

लखनऊ. लॉकडाउन (Lockdown) को लेकर आवश्यक चीजों को लाने और ले जाने में आ रही दिक्कतों को लेकर तमाम व्यापारी संगठनों ने अपना विरोध दर्ज कराया. इसके बाद अब लखनऊ (Lucknow) के पुलिस कमिश्नर सुजीत पांडेय (CP Sujit Pandey) ने लॉक डाउन के दौरान आवश्यक सेवाओं से जुड़े लोगों के लिए अहम जानकारी दी है. उन्होंने विस्तार से बताया है कि किन लोगों को लॉकडाउन के दौरान आने-जाने में छूट मिलेगी? साथ ही पुलिस कमिश्नर ने हेल्पलाइन नंबर भी जारी किया है. पुलिस कमिश्नर ने साफ किया कि जिनको आवाजाही की छूट है, उन्‍हें रोके जाने पर यूपी 112 पर शिकायत करें या 0522-2622627 या 9810346713 पर कॉल कर संपर्क करें.

इन्हें मिलेगी छूट
सुजीत पांडेय के मुताबिक, खाद्य सामग्री से जुड़े वाहनों के लिए नो एंट्री ख़त्म कर दी गई है. ये वाहन अब 24 घंटे शहर में सप्लाई दे सकते हैं. खाद्य सामग्री, सब्जी, फल, के छोटे-बड़े वाहन अब 24 घंटे चल सकेंगे. लखनऊ शहर के अंदर खाद्य सामग्री लाने वाले 6500 छोटे-बड़े वाहनों के पास बनाए गए. उन्होंने बताया कि सिक्योरिटी कंपनी के कर्मचारी, आरडब्ल्यूए सिक्योरिटी कर्मचारियों, पेट्रोल पंप कर्मियों को आईकार्ड दिखाने पर आवाजाही की छूट दी गई है. दूध के छोटे-बड़े वाहनों को शहर की सीमाओं से अंदर आवाजाही की छूट दी गई है. पेट्रोल टैंकर को आवाजाही की छूट रहेगी.

सिर्फ आइकार्ड दिखाने पर जाने दिया जाएगा

पुलिस ने कमिश्नर ने आगे बताया कि इसी तरह स्वास्थ्य कर्मियों, पैरामेडिकल स्टाफ, सफाई कर्मियों को आई कार्ड दिखाने पर आवाजाही की छूट दी गई है. गैस सिलेंडर सप्लाई से जुड़े वाहनों को आवाजाही की छूट रहेगी. जानवरों के लिए चारा और भूसी लाने वाले वाहनों को आवाजाही की छूट है. इसी तरह अनाज, किराने का सामान वाले वाहनों को आवाजाही की छूट रहेगी.

पुलिस देगी अंतिम यात्रा में सहयोग
सुजीत पांडे ने बताया कि किसी की मृत्यु होने पर संबंधित थाने को सूचना दें. थाना पुलिस अंतिम यात्रा में अपेक्षित सहयोग करेगी.

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper