लोनिवि मंत्री ने सड़कों के रखरखाव को लेकर अधिकारियों के कसे पेंच

लखनऊ ब्यूरो। उपमुख्यमंत्री और लोक निर्माण विभाग के मंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने मंगलवार को एक अहम बैठक में सड़कों के रखरखाव की कार्ययोजना बनाने को लेकर अधिकरियों के पेंच कसे। मंत्री ने अधिकारियों से कहा कि प्रदेश में बन रही सड़कों के नियमित रखरखाव के लिये एक विस्तृत कार्य योजना बनायी जाएं, जिससे सड़कों को खराब होने से रोका जा सके।

केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि कार्ययोजना में इस बात का ध्यान रखने को कहा कि सड़क बनाने से पहले पब्लिक यूटीलिटी से जुड़े समस्त पहलुओं पर विचार कर लिया जाएं, जिससे सड़क बनने के बाद पब्लिक यूटीलिटी के लिये सड़क को काटना न पड़े। सुझाव देते हुए उन्होंने कहा कि अधिक अच्छा हो यदि पब्लिक यूटीलिटी के कार्यों हेतु सड़क के दोनों ओर पब्लिक यूटीलिटी डक बना दिये जाएं।

विभागीय मंत्री ने कहा कि अभी तक देखा गया है कि ओवर लोडिंग के कारण सड़कें खराब होती हैं। कार्ययोजना बनाने वक्त ओवर लोडिंग पर भी विचार किया जाएं। सड़कों की स्वच्छता के लिए जन जागरूकता के स्लोगन, जो सड़के स्वीकृत या निर्माणाधीन है उनके सम्बन्ध में सभी सूचनायें यथा विधानसभा क्षेत्र, मार्ग का नाम, स्वीकृत धनराशी, कार्य का ब्यौरा इत्यादि अवश्य अंकित किया जाएं।

उत्तर प्रदेश की सभी आठ पिछड़े जिलों चित्रकुट, बलरामपुर, बहराईच, सोनभद्र, श्रावस्ती, चन्दौली, सिद्धार्थनगर एवं फतेहपुर के सम्बन्ध में उन्होंने कहा कि इन जिलों की सड़कों को विकसित करने के लिए विस्तृत कार्ययोजना बनाई जाएं। अधिकारी इसे प्राथमिकता के साथ कार्य कर मॉडल जिला के रूप में विकसित करें। हर्बल मार्ग विकसित करते हुए उनका नियमित निरीक्षण किया जाएं, जिससे हर्बल पौधे विकसित हो सकें।

उप मुख्यमंत्री ने कहा कि लोक निर्माण विभाग में लगभग 25000 बेलदार कार्य कर रहे हैं। उन्हे अवर अभियन्ता के कार्यों के अनुसार गैंग बनाकर सड़कों में मेन्टीनेंस कार्य में लगाया जाएं, जिससे क्षतिग्रस्त सड़कों की ससमय मरम्मत होती रहें। उप मुख्यमंत्री ने कहा कि लोनिवि के सभी अधिकारी आज से विभागीय दस्तावेजों पर फैजाबाद के स्थान पर अयोध्या तथा इलाहाबाद के स्थान पर प्रयागराज लिखना शुरु कर दें।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
loading...
E-Paper