वर्षों से अपना ही बासी पेशाब पी रहा है ये शख्स, किया हैरान कर देने वाला दावा

इंग्लैंड: यूं तो दुनिया में अजीबोगरीब लोगों की कमी नहीं लेकिन यहां हम आपको जिस अजीब शख्स के बारे में बताने जा रहे हैं उसकी हरकतें न सिर्फ चौंकाने वाली है बल्कि उसे जानकर आपको घिन भी आ जाएगी। हैंपशायर का रहने वाला हैरी मतादीन नाम का शख्स दरअसल बीते चार सालों से अपना ही बासी पेशाब पी रहा है। उसका दावा है कि इससे उसकी सेहत में काफी सुधार हुआ है। बता दें कि हैरी मतादीन अपना ही यूरीन बेहद चाव से पीता है।

बता दें कि 32 वर्षीय हैरी इंग्लैंड के शहर हैंपशायर का रहने वाला है। हैरी का कहना है कि वह रोजाना करीब 200 एमएल बासी यूरीन पीता है। उसका ये यूरीन एक हफ्ते से लेकर करीब एक महीने तक पुराना होता है। हैरी का दावा है कि रोजाना बासी यूरीन पीने से न सिर्फ उसका मानसिक अवसाद (डिप्रेशन) कम हुआ है, बल्कि वह पहले से ज्यादा जवां भी दिखने लगा है।

हैरी ने बासी यूरीन में एंटी एजिंग प्रोडक्ट्स होने का भी दावा किया है। वह पिछले चार सालों से लगातार रोजाना सुबह अपना बासी यूरीन पी रहा है। हैरी का कहना है कि इसका नियमित रूप से सेवन करने से वह ज्यादा खुश, सेहतमंद और बुद्धिमान हुआ है। हैरी का कहना है कि उसने अपनी खराब सेहत को देखते हुए यूरीन पीने का फैसला किया था। वह डिप्रेशन का शिकार था और उसकी सेहत भी कुछ ठीक नहीं रहती थी। हैरी ने बताया कि उसे मार्था क्रिस्टी की किताब ‘यॉर ऑन परफेक्ट मेडिसिन’ पढ़ने के बाद ‘यूरीन थैरेपी’ के बारे में पता लगा था। शुरुआत में मैंने ताजा यूरीन पीना शुरू किया था, जिसके बाद मुझे धीरे-धीरे कम डिप्रेशन महसूस होने लगा।

हैरी ने आगे बताया, ‘फेसबुक पर भी कई यूरीन थेरेपी ग्रुप्स हैं जिन्हें जॉइन करने के बाद मुझे बासी यूरीन पीने के फायदों के बारे में पता चला। सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर मुझे कई ऐसे प्रमाण मिले जो बताते हैं कि ताजे यूरीन के मुकाबले बासी यूरीन पीना ज्यादा फायदेमंद है।’

हैरी कहते हैं कि शुरुआत में इसका टेस्ट उन्हें बिल्कुल पसंद नहीं था, लेकिन बाद में उन्हें इसकी आदत हो गई। आज उन्हें इसका फ्लेवर काफी पसंद आता है। हालांकि मेडिकल जगत के कई दिग्गजों ने हैरी मतादीन की मानसिकता पर सवाल खड़े किए हैं। विशेषज्ञों का कहना है कि यूरीन पीने से इंसान की सेहत को किसी तरह का लाभ नहीं होता है। यूनिवर्सिटी ऑफ सिडनी के प्रोफेसर हेनरी वू कहते हैं कि इसका कोई वैज्ञानिक प्रमाण नहीं है कि इंसान का पेशाब उसकी सेहत के लिए फायदेमंद है। हैरी जैसे लोग अपना पेशाब पीकर खुद को धोखे में रख रहे हैं।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper