वाराणसी में बड़ी सियासी बैठक, भागवत ,मोदी और गडकरी की होगी मुलाकात

दिल्ली ब्यूरो: इसे संयोग कहे या फिर प्लानिंग कि वाराणसी में संघ प्रमुख मोहन भागवत, पीएम मोदी और परिवहन मंत्री नितिन गडकरी एक साथ पहुँच रहे हैं। माना जा रहा है कि इन तीनो की मुलाकात होगी। अगर ऐसा होता है तो इसे सबसे बड़ी सियासी मुलाकात के रूप में जाना जाएगा। जिस तरह से राम मंदिर को लेकर संघ परिवार और बीजेपी के नेता जल्बाजी करते दिख रहे हैं और सुप्रीम कोर्ट अपना काम करता दिख रहा है ऐसे में इन तीनो चेहरों की मुलाक़ात को काफी अहम माना जा रहा है। बता दें कि संघ प्रमुख भागवत 6 दिनों के प्रवास पर वाराणसी में हैं। वे संघ के 250 से ज्यादा प्रचारकों के साथ बैठक कर रहे हैं।

हालांकि इन तीनो चेहरों की मुलाक़ात की कोई योजना अभी तक सामने नहीं आई है लेकिन यह भी माना जा रहा है कि संघ के काफी नजदीक गडकरी के वाराणसी में होने से पीएम मोदी और भगवत की मुलाक़ात संभव है। हालांकि प्रधानंमत्री मोदी सिर्फ पांच घंटे के लिए वाराणसी में रहेंगे। उनको जल मार्ग से कोलकाता से आ रहे पहले कंटेनर पोत का स्वागत करना है और इसलिए परिवहन मंत्री नितिन गडकरी भी उनके साथ रहेंगे।

चूंकि नितिन गडकरी भी वाराणसी में हैं, जिनको संघ का बेहद करीबी माना जाता है इसलिए भी मुलाकात की ज्यादा अटकलें हैं। अगर भागवत, मोदी और गडकरी की मुलाकात होती है तो यह हाल के दिनों की सबसे अहम राजनीतिक परिघटना होगी। अयोध्या में राममंदिर के मसले पर संघ ने दो टूक स्टैंड लिया है। संघ के नंबर दो पदाधिकारी भैया जी जोशी ने कहा है कि मंदिर निर्माण के लिए संघ 1992 जैसे आंदोलन छेड़ सकता है। संघ के दूसरे संगठन केंद्र सरकार पर कानून बनाने के लिए दबाव डाल रहे हैं। ऐसे में संघ प्रमुख और प्रधानमंत्री की मुलाकात काफी अहम मानी जाएगी।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper