विपक्षी पार्टियां जातिवाद की राजनीति कर रही हैं: पंकज सिंह

लखनऊ ब्यूरो। देश अब परिवारवाद नहीं राष्ट्रवाद से चलेगा। देश और प्रदेश की विपक्षी पार्टियां जातिवाद एवं तुष्टीकरण की राजनीति कर रही हैं। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बिना वर्तमान समय में लागू आरक्षण को छेड़े और आर्थिक रूप से कमजोर सामान्य वर्ग के लोगों को 10 प्रतिशत आरक्षण देकर एक तबके की समस्या को समाप्त कर दिया। यह बातें भाजपा के प्रदेश महामंत्री व विधायक पंकज सिंह ने गुरुवार को लखनऊ महानगर के कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कही।

उन्होंने लखनऊ महानगर की कार्यसमिति के तीन साल पूरे होने पर महानगर अध्यक्ष मुकेश शर्मा सहित उनकी पूरी टीम को बधाई दी। सिंह ने कहा कि लखनऊ महानगर उत्तर प्रदेश की राजधानी होने के कारण उस पर संगठन द्वारा निर्धारित अभियानों एवं कार्यक्रमों के अतिरिक्त भी विभिन्न प्रकार के कार्यों का दबाव रहता है लेकिन महानगर अध्यक्ष एवं उनकी टीम सहजता से सारे कार्य सम्पादित करती रहती है। इसके लिये यह सब बधाई के पात्र हैं।

महानगर अध्यक्ष मुकेश शर्मा ने कहा कि हम सब राजनैतिक कार्यकर्ता हैं, और किसी भी राजनैतिक दल के लिये चुनाव सबसे महत्वपूर्ण पहलू होता है। इसलिये हम सबको नरेन्द्र मोदी एवं गृहमंत्री सहित केन्द्र एवं प्रदेश की सरकारों ने जो विकास की धारा बहाई है, उसको निरन्तरता देने के लिये 2019 के चुनाव में लखनऊ ही नहीं पूरे प्रदेश एवं देश में भारतीय जनता पार्टी की विजय पताका लहराना है।

इस मौके पर विधायक डॉ. नीरज बोरा, पूर्व सांसद श्यामनारायण साहू, पूर्वविधायक रामकुमार शुक्ला, पूर्व महानगर अध्यक्ष राजेन्द्र तिवारी, मनोहरसिंह द्वारा पुष्पाजंलि कर एवं महिला मोर्चा अध्यक्ष जया शुक्ला, मधुबाला त्रिपाठी, नीलम सिंह के वन्दे मातरम् गायन से प्रारम्भ हुआ।

महानगर मंत्री अंजनी श्रीवास्तव ने मंचासीन पदाधिकारियों का पुष्प एवं अंगवस्त्र से स्वागत किया। कार्यक्रम का संचालन महामंत्री राम अवतार कनौजिया ने किया एवं धन्यवाद महामंत्री त्रिलोक सिंह अधिकारी ने दिया। राष्ट्रगान के साथ कार्यक्रम का समापन हुआ।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper