विभाग बंटवारे को लेकर आज और होगा ‘वर्कआउट’: शिवराज सिंह चौहान

भोपाल: मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज कहा कि मंत्रियों के बीच विभागों के बंटवारे को लेकर वे आज और वर्कआउट करेंगे। चौहान ने दिल्ली से लौटने के बाद यहां स्टेट हैंगर पर पत्रकारों के सवालों के जवाब में यह टिप्पणी की। उनसे पूछा गया था कि क्या आज शाम तक मंत्रियों के बीच विभागाें का वितरण हो जाएगा, चौहान ने कहा कि आज और वर्कआउट करुंगा और इसके बाद विभाग बंटेंगे।

चौहान रविवार को सुबह दिल्ली रवाना हुए थे। उन्होंने आधिकारिक यात्रा के दौरान राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति और अनेक केंद्रीय मंत्रियों से सौजन्य भेंट के अलावा राज्य के मंत्रियों के बीच विभागों के वितरण को लेकर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठ नेताओं से चर्चा की है। चौहान को सोमवार रात्रि में वापस आना था, लेकिन वे आज सुबह ग्यारह बजे बाद यहां पहुंचे और इसके बाद भी कहा कि विभागों के वितरण को लेकर आज और वर्कआउट होगा।

श्री चौहान ने दो जुलाई को 28 नए मंत्रियों को शामिल कर मंत्रिमंडल का विस्तार किया था। पांच मंत्री पहले से ही हैं। दो जुलाई से ही मंत्रियों के बीच विभाग वितरण को लेकर कवायद चल रही है और उस दिन से ही सबको विभाग वितरण कार्य का बेसब्री से इंतजार है। दरअसल लगभग चार माह पहले कांग्रेस छोड़कर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) में आए ज्योतिरादित्य सिंधिया के समर्थक लगभग एक दर्जन मंत्री हैं। माना जा रहा है कि प्रमुख माने जाने वाले विभागों को लेकर खींचतान चल रही है। इसलिए चौहान, केंद्रीय नेतृत्व, प्रदेश संगठन के अलावा श्री सिंधिया को विश्वास में लेकर फूंक फूंककर कदम रखकर आगे बढ़ने की नीति पर चल रहे हैं।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper