विवाहिता की मौत पर ससुरालियों के खिलाफ दहेज हत्या का मुकदमा दर्ज

लखनऊ: इंटौजा थाना क्षेत्र में संदिग्ध हालात में महिला की मौत के बाद मायके पक्ष के लोगों ने रविवार को ससुराल पक्ष से दामाद, ससुर सहित पांच लोगों के खिलाफ दहेज हत्या का मुकदमा दर्ज कराया है। पुलिस ने मामला दर्ज कर आगे की कार्रवाई शुरु कर दी है।

मड़ियाव के बसन्त विहार कॉलोनी निवासी उत्तम चन्द्र ने थाने में दहेज हत्या का मुकदमा दर्ज कराया। उसमें उन्होंने बताया कि एक वर्ष पहले बेटी पूजा की शादी इंटौजा के सुल्तानपुर के रहने वाले अर्जुन के साथ की थी। हैसियत के मुताबिक, दहेज भी दिया, लेकिन दहेजलोभी ससुरालीजन अतिरिक्त दहेज के लिए बेटी पूजा को प्रताड़ित करना शुरु कर दिया है।

शनिवार की रात दामाद अर्जुन ने फोन करके बताया कि पूजा की तबीयत खराब हो गयी है। यह जानकारी होते ही मायके पक्ष के लोग घर पहुंचे तो देखा कि बेटी की मौत हो चुकी है। मायके पक्ष के लोगों ने आरोप लगाया है कि दहेज की डिमांड पूरी न होने पर दमाद ने परिवार के साथ मिलकर बेटी को फंदे से लटका कर मार दिया है।

क्षेत्राधिकारी बीकेटी ने बताया कि मृतका के परिवार की ओर से मिली तहरीर पर पुलिस ने दमाद अर्जुन, ससुर राजकुमार, सास, देवर और नन्द के खिलाफ दहेज का मुकदमा दर्ज कर विवेचना की जा रही है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper