शनिवार के दिन इन 4 चीजों को चढाने से बदल सकती है आपकी किस्मत !

शनिदेव को कर्मफदलदाता कहा गया है। आपके कर्म के अनुसार आपके अच्छे बुरे कर्मो के हिसाब से शनिदेव फल देते है। ज्योतिष में बताया जाता है कि अगर जिसके उपर शनि की दशा चल रही होती है तो बाकि सब ग्रह के प्रभाव उस कुंडली में मंद पड जाते है। और शनि के हिसाब से ही शुभ अशुभ प्रभाव पडते है। शनि की दशा आने पर जीवन में कई उतार चढाव आते है। शनि का प्रभाव तेजी से दिखायी देता है शनिवार शनिदेव का वार है। शनिदेव को प्रसन्न करने के लिये शनिवार को पुजा करनी चाहिये और इन 4 चीजों को चढाना चाहिये। इन 4 चीजों को चढाने से शनिदेव प्रसन्न होते है और वे आपकी किस्मत चमका सकते है।

सरसों का तेल

शनिदेव को तेल अधिक प्रिय है और जो व्यक्ति शनिवार के दिन शनिदेव को सरसों का तेल चढाता है उससे शनिदेव बहुत प्रसन्न होते है। शनिदेव को शनिवार को तेल चढाने से व्यक्ति के कई अशुभ फलों में कमी होती है। आज भी हर शनिवार को शनि मंदिरों पर भीड देखी जा सकती है। शनिदेव को प्रसन्न करने के लिये लोग शनिवार को तेल चढाते है।

काले तिल

ज्योतिष में शनिवार को शनिदेव को प्रसन्न करने के लिये काले तिल का भी खासा महत्व बताया गया है। शनिवार के दिन शनिदेव की पुजा करके काले तिल चढाने चाहिये इससे भी शनिदेव प्रसन्न होते है। काले तिल के अलावा काली उडत या काली वस्तुएं भेंट करने का भी महत्व बताया गया है।

नारियल

हिंदू धर्म में पुजा में नारियल का विशेष महत्व है किसी भी पुजा में नारियल का होना जरूरी होता है इससे देवी देवता जल्द प्रसन्न होते है। इसी तरीके से शनिवार के दिन शनिदेव को भी नारियल चढाना चाहिये। जिससे की शनिदेव प्रसन्न हो और जातक की कुण्डली का दोष दूर करते है।

नीले फुल

शनिदेव को नीला रंग अत्यधिक प्रिय है। शास्त्रों में बताया गया है कि शनिदेव हमेशा नीले वस्त्रों में रहते है। नीला रंग प्रिय होने के कारण शनिदेव को प्रसन्न करने के लिये शनिवार के दिन अपराजिता के नीले फुलों को शनिदेव को अर्पण करने चाहिये। अपराजिता के फुल चढाने से शनिदेव प्रसन्न होते है और जातक के कुण्डली के दोष दूर होते है।

E-Paper