शरद पवार के बयान से बढ़ा सस्पेंस, बोले- महाराष्ट्र में सरकार बनाने पर भाजपा-शिव सेना से पूछो

नई दिल्ली: राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के प्रमुख और महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री शरद पवार ने सोमवार को राज्य में नई सरकार के गठन के बारे में कहा कि इस बारे में उनसे नहीं भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) और शिवसेना से पूछा जाना चाहिए। राजधानी आए पवार ने यहां मीडिया से बातचीत में महाराष्ट्र में नई सरकार के गठन को लेकर पूछे गए सवालों पर पार्टी की रणनीति का खुलासा नहीं किया। उन्होंने यह कहकर दुविधा और बढ़ा दी कि इस संबंध में उनसे पूछने की बजाय “भाजपा और शिवसेना से पूछो।”

महाराष्ट्र में पिछले महीने संपन्न हुए विधानसभा चुनाव में भाजपा और शिवसेना ने मिलकर चुनाव लड़ा था। दोनों दलों ने 288 सदस्यीय विधानसभा में बहुमत का आंकड़ा पार कर लिया था किंतु बाद में मुख्यमंत्री पद को लेकर विवाद हो गया। भाजपा को 105 सीटें और शिवसेना को 56 सीटें मिली थीं। शिवसेना मुख्यमंत्री पद पर 50..50 का फार्मूला चाहती है। उसका कहना है कि पहले ढाई साल के लिए शिवसेना का मुख्यमंत्री बनाया जाये जबकि भाजपा इसके लिए तैयार नहीं है। पिछली बार राज्य में भाजपा के देवेंद्र फडण्वीस की अगुवाई में सरकार थी।

पवार आज दिल्ली में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात करेंगे। राकांपा प्रमुख ने श्रीमती गांधी के साथ मुलाकात का समय नहीं बताया है। महाराष्ट्र विधानसभा का चुनाव दोनों दलों ने एक साथ लड़ा था। उन्होंने मीडिया से बातचीत में महाराष्ट्र में नयी सरकार के गठन को लेकर पूछे गए सवालों को टाल दिया। उन्होंने यह भी कहा कि श्रीमती गांधी के साथ उनकी शिष्टाचार भेंट होगी। फिलहाल राज्य में राष्ट्रपति शासन लागू है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper