शराब-सिगरेट से करें तौबा

लखनऊ: धूम्रपान सेहत के लिए हानिकारक है, लेकिन यह सब जानते हुए भी लोग कश लगाने से बाज नहीं आते हैं। हाल ही में हुई एक रिसर्च में सामने आया है कि ज्यादा शराब और सिगरेट पीने वालों में बुढ़ापे के संकेत जल्द नजर आ सकते हैं और वे अपनी उम्र से ज्यादा बड़े दिख सकते हैं। जर्नल ऑफ एपिडेमॉलजी एंड कम्युनिटी हेल्थ में प्रकाशित इस अध्ययन में लोगों से उनकी लाइफस्टाइल और सामान्य स्वास्थ्य के बारे में पूछा गया था। उनसे यह जानने का प्रयास किया गया था कि वे कितनी शराब पीते हैं और स्मोकिंग करते हैं।

वर्ष 1976 से अब तक 11 हजार 500 से अधिक लोगों पर किए गए रिसर्च में यह निष्कर्ष निकाला गया है। इस रिसर्च में कहा गया है कि ऐसे पुरुष और महिला जो ज्यादा शराब पीते हैं, उनमें दूसरे लोगों की तुलना में बुढ़ापे के लक्षण उभरने की संभावना अधिक होती है। इसी प्रकार, जो महिलाएं रोजाना करीब 20 सिगरेट पीती हैं उनमें वृद्धावस्था का जोखिम 41 फीसदी अधिक होता है, जबकि इतनी ही सिगरेट रोज पीने वाले पुरुषों में यह जोखिम 12 फीसदी ज्यादा होता है।

रिपोर्ट में मुताबिक, सामान्य मात्रा में शराब पीने से शराब न पीने वालों की तुलना में उम्र में एक साल का अंतर दिखाई देता है। शोधकर्ताओं का कहना है, ‘यह पहला शोध है, जो दिखाता है कि शराब व धूम्रपान का संबंध उम्र के $कने के लक्षणों से जुड़ा हुआ है और इस तरह से व्यक्ति अपनी आयु से अधिक उम्र का दिखता है।Ó तो फिर अगर आप भी शराब पीने और स्मोकिंग करने के आदी हैं तो इस आदत को तुरंत अलविदा कर दीजिए।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper