शरीर के इस हिस्से को 5 बार दबाएं और फिर दिखेगा आश्चर्य कर देने वाला कमाल..!

नई दिल्ली: हमारे हाथ शरीर को स्वस्थ रखने का केन्द्र हैं हाथ हमारे शरीर को स्वस्थ करने कि ताकत तथा क्षमता देता है ये बात तो हम सभी जानते ही हैं कि हमारा शरीर पांच मूल तत्वों से मिलकर बना है ये पांच तत्व जब तक संतुलित रहते हैं तब तक हमारा शरीर भी चुस्त तथा रोग से मुक्त रहता है।

ऐसे रखें अपने शरीर को चुस्त और तंदुरुस्त

शरीर पर कुछ ऐसे प्वॉइट होते हैं, जिन पर दबाव डालने से हमें कई तरह के स्वास्थ्य लाभ मिलते हैं वैज्ञानिकों ने भी इस बात को माना है कि इन प्वॉइट्स पर दबाव डालने से एंडोर्फिन हार्मोन उत्पन्न होता है जो दर्द से आराम देने के साथ साथ बॉडी में खून और ऑक्सीजन के प्रवाह को दुरुस्त करता है एक्यूप्रेशर या एक्यूपंचर दो ऐसी चिकित्सा पद्धतियां हैं जिनमें रक्त प्रवाह ऑक्सीजन तथा उर्जा के माध्यम से मनुष्य की शारीरिक बीमारियों का इलाज किया जाता है।

ये थेरेपी है बहुत कारगर

पत्नी साड़ी के स्थान पर पहनती है जींस-टॉप, सिंदूर भी नहीं लगाती, पति ने मांगा तलाक…!

हमारे शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में एक्यूप्रेशर तथा एक्यूपंचर थेरेपी बहुत कारगर है ये थेरेपी शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के साथ साथ मांसपेशियों को आराम देकर तनाव और चिंता से भी राहत पहुंचाती है एक्यूप्रेशर थेरेपी का उपयोग दर्द थकान सिरदर्द तनाव जैसी आम बीमारी के इलाज के लिए किया जाता है आपको बता दें कि हमारा अंगूठा आग का तर्जनी हवा के बीच की उंगली अंतरिक्ष का अनामिका पृथ्वी का तथा छोटी उंगली पानी का सूचक है।

अंगूठे पर पांच बार दबाने से होता है कमाल

एक्यूप्रेशर एक घरेलू उपचार है मतलब इसके लिए आपको किसी डॉक्टर से सलाह लेने कि आवश्यकता नहीं है एक्यूसप्रेशर थेरेपी में हाथ की उंगलियों पर निश्चित प्वाइंट पर दबाव डाला जाता है यह दर्द थकान सिरदर्द तनाव जैसी आम बीमारी के इलाज में बहुत कारगर है एक्यूप्रेशर बहुत पुरानी विधि है इसके अलावा योग भी शरीर को स्वस्थ्य रखने के लिए बहुत उपयोगी है मानसिक व शारीरिक स्वास्थ्य के लिए इस तरकीब का इस्तेमाल किया जा सकता है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper