शादी के लिए एक विदेशी युवती लगा रही मोदी योगी से न्याय की गुहार

बागपत: अपने प्रेम को पाने एवं उससे शादी करने के लिए एक विदेशी युवती पिछले 1 महीने से बागपत के अधिकारियों के चक्कर लगा रही है। युवती वेरोनिका खलेबोवा ने अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से न्याय की अर्जी लगाई। युवती ने ट्वीट करके सारा मामला विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को बताया। बागपत के युवक अक्षित त्यागी और युक्रेन की वेरोनिका की यह प्रेम कहानी रूस में शुरू हुई।

अक्षित रशियन भाषा सीखने रूस गया तब वहां उसकी मुलाकात टूरिस्ट स्टूडेंट वेरोनिका से हुई। जिसके बाद यह मुलाकात प्रेम में बदल गई। दोनों एक दूसरे से इतना प्रेम करने लगे कि दोनों ने जीने मरने की कसमें भी खाई। इसके बाद दोनों ने भारत आकर हिंदू रीति रिवाज से शादी करने का फैसला भी लिया। वेरोनिका ने बागपत में स्पेशल मैरिज एक्ट के तहत एसडीएम कोर्ट में विवाह के लिए आवेदन किया।

वेरोनिका ने बागपत के अधिकारी पर यह आरोप लगाया कि वह उसे 1 महीने से चक्कर खिला रहे हैं। कोई उनकी बात सुनने को तैयार नहीं है। अक्षित और वेरोनिका दोनों मैरिज सर्टिफिकेट लेने एसडीएम कोर्ट गए थे। वहां इन दोनों ने स्टेनो पर रिश्वत मांगने और डीएम पर अभद्रता करने का आरोप लगाया।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper