शाहीन बाग में प्रदर्शन कर रही महिलाओं का बड़ा फैसला, कल गृह मंत्री अमित शाह से करेंगी मुलाकात

नई दिल्ली: नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के खिलाफ राजधानी दिल्ली के शाहीन बाग में प्रदर्शन कर रही महिलाओं से जुड़ी बड़ी खबर सामने आ रही है। प्रदर्शनकारी महिलाओं ने गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात कर अपनी बात रखने का फैसला किया है। जानकारी के मुताबिक, शाहीन बाग की सभी महिला प्रदर्शनकारी कल दोपहर 2 बजे गृह मंत्री के आधिकारिक आवास पर मुलाकात करेंगी।

हालांकि इस मुलाकात को लेकर गृह मंत्री कार्यालय के सूत्रों का कहना है कि उन्हें ऐसी किसी मुलाकात के लिए प्रदर्शनकारियों की तरफ से अब तक कोई अर्जी नहीं मिली है। बता दें कि शाहीन बाग में दिसंबर से ही धरने पर बैठी महिलाएं सीएए के साथ ही एनआरसी और एनपीआर का भी विरोध कर रही हैं। इस प्रदर्शन को 60 दिन से भी ज्यादा हो चुके हैं लेकिन अभी तक कोई समाधान नहीं निकला है।

शाहीन बाग के प्रदर्शनकारी महिलाओं का कहना है कि वे कल दोपहर 2 बजे अमित शाह से मिलने जाएंगी। उनका कहना है कि हमारे बुलाने से गृह मंत्री और पीएम मोदी शाहीन बाग नहीं आए लेकिन हमारी सरकार से हमें मिलने के लिए 3 दिन का वक्त दिया गया है। हम सब कल अमित शाह से मिलने जरूर जाएंगे।

गौरतलब है कि गृहमंत्री अमित शाह ने एक कार्यक्रम में कहा था कि अगले तीन दिन में सीएए को लेकर कोई भी उनसे आकर मुलाकात कर सकता है। शाह ने कहा था कि जिस किसी को भी सीएए को लेकर आपत्ति है, वह उनसे बात करने के लिए तैयार हैं। शाहीन बाग की प्रदर्शनकारी महिलाओं का कहना है कि उन्हें प्रशासन से सुरक्षा चाहिए। हम शांति के साथ गृह मंत्री से मिलने जाएंगे। हमें रोका ना जाए बल्कि प्रशासन हमारी सुरक्षा सुनिश्चित करे।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper