संजय राउत ने अयोध्या में संतो से साधा संपर्क

अयोध्या ब्यूरो। शिवसेना पक्ष प्रमुख उद्धव ठाकरे की आगामी 25 नवंबर को अयोध्या आगमन के संदर्भ में शिवसेना संसदीय दल के नेता संजय राउत मंगलवार को अयोध्या में साधु संतों के साथ संपर्क किया।

उसके बाद संजय राउत अयोध्या में पत्रकारों से बातचीत में कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से आपके मिलने की क्या राजनीति है, आप का एजेंड क्या है? तो उन्होंने कहा वह राज्य के मुख्यमंत्री हैं माननीय उद्धवजी पहली बार अयोध्या आ रहे हैं, जिसका उन्होंने भी स्वागत किया है।

इस भेंट में राजनीति कम राममंदिर बनाने का विचार ज्यादा है। उद्धव जी 25 नवम्बर को श्री राम जन्म भूमि का दर्शन कर श्रीजन्मभूमि पर भव्य मंदिर निर्माण कराने के लिए दबाव बनाएंगे। राममंदिर हमारे लिए आस्था का विषय है राममंदिर हमारे लिए कोई राजनीतिक एजेंडा नहीं है।, पत्रकारों ने कहा कि आप बार बार अयोध्या आ रहे हैं? इसके जवाब में उन्होंने कहा कि हम कोई पहली बार अयोध्या नहीं आ रहे हैं ।

श्री राम जन्म भूमि से कलंकित ढांचा मिटाने का काम शिवसेना ने किया है। हिंदू हृदय सम्राट आदरणीय बालासाहेब ठाकरे का राम जन्मभूमि मंदिर से पुराना नाता रहा है।ठाकरे परिवार का कोई भी प्रतिनिधि पहली बार अयोध्या कर श्री राम जन्म भूमि का दर्शन करेगा तो स्वाभाविक है कि भारी संख्या में लोग भी श्री राम जन्म भूमि का दर्शन उधर उनके साथ करना चाहेंगे।

ऐसे में अयोध्या की शांति व्यवस्था बनी रहे किसी भी प्रकार की कोई गड़बड़ी ना हो इसलिए हम सरकार का अधिक से अधिक सहयोग करने के नियत से व्यवस्था भी देख रहे हैं, शांति हमारी पहली प्राथमिकता होगी।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper