सऊदी अरब में फंसे भारतीय को सुषमा ने दिया मदद का भरोसा

नई दिल्ली: विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने सऊदी अरब में फंसे एक भारतीय को गुरुवार को रियाद स्थित भारतीय दूतावास से सभी प्रकार की मदद मिलने का आश्वासन दिया। सऊदी अरब में फंसे उस व्यक्ति ने कहा था कि अगर वह भारत नहीं लौट पाया तो वह खुदकुशी कर लेगा। सुषमा स्वराज ने एक ट्वीट में कहा, “खुदकुशी की बात नहीं सोचते। हम हैं ना। हमारी एंबेसी आपकी पूरी मदद करेगी।”

उन्होंने रियाद स्थित भारतीय दूतावास से इस मामले में रिपोर्ट मांगी है। दूतावास को किए ट्वीट में व्यक्ति ने खुद की पहचान अली के रूप में की और कहा कि वह करीब एक साल से दूतावास से मदद की गुहार लगा रहे हैं। अगर उनको भारत भेजा जाता है तो यह बड़ी मदद होगी। उन्होंने कहा कि उनके चार बच्चे हैं।

हालांकि इस ट्वीट को बाद में हटा लिया गया। अली ने ट्वीट में यह भी कहा कि उनके भारत स्थित परिवार में कुछ समस्याएं हैं और बगैर कोई छुट्टी लिए 21 महीने से सऊदी अरब में हैं। एक अन्य ट्वीट सें सुषमा स्वराज ने लंदन स्थित भारतीय उच्चायोग से गुजरात के उस परिवार की मदद करने को कहा जिसने 10 अप्रैल को लंदन में एक सड़क हादसे में अपने एक सदस्य को खो दिया है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper