सत्ता को भ्रष्टाचार का पर्याय बना दिया था सपा, बसपा व कांग्रेस ने

लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को अपने अलीगढ़, रामपुर व सहारनपुर की चुनावी जनसभाओं में कांग्रेस, सपा और बसपा पर जमकर निशाना साधा। मुख्यमंत्री ने कहा कि भाजपा सबके विकास के लिए काम कर रही है। हमारा काम उनको पसंद नहीं आ रहा है, जिनके समय में सत्ता सिर्फ अराजकता, भ्रष्टाचार और गुंडागर्दी की पर्याय थी। इसमें सपा, बसपा और कांग्रेस सभी शामिल हैं। विकास इनकी सोच में ही नहीं था, अब जब इनका विकास विरोधी चेहरा उजागर हो गया, तो जनता इनको 2014 से लगातार खारिज कर रही है।

उन्होंने विकास कार्यों का जिक्र करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कार्यकाल में तीन करोड़ लोगों को अपना घर मिला। आयुष्मान योजना गरीबों के लिए वरदान बन चुकी है। गरीबों को मुफ्त आवास और गैस कनेक्शन दिये गये। प्रधानमंत्री किसान सम्मान योजना का सर्वाधिक लाभ यूपी के किसानों को मिला। केंद्र और प्रदेश सरकार किसानों की आय दोगुना करने के लिए लगातार काम कर रही है। किसानों की खुशहाली के जरिये हम चौधरी चरण सिंह का सपना साकार करना चाहते हैं।

कांग्रेस ने तो सिर्फ आतंकवाद और भ्रष्टाचार दिया। कांग्रेस ने अनुच्छेद 370 के तहत कश्मीर को विशेषाधिकार देकर बाबा साहेब भीमराव आंबेडकर का भी अपमान किया। भाजपा के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार ने जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाकर वहां के लोगों को समान अधिकार देने का कार्य किया। सदियों पुरानी चली आ रही तीन तलाक की कुप्रथा को भाजपा सरकार ने ही खत्म किया। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार ‘‘एक जिला, एक उत्पाद’ के जरिये अलीगढ़ के ताला उद्योग को जहां नया जीवन दे रही है।

स्पाइसजेट के पाक में एफ-16 से घेरे जाने के मामले में बड़ी चूक उजागर

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper