सर्जरी के दौरान मरीज पढ़ता रहा हनुमान चालीसा, डॉक्टरों ने निकाला ब्रेन ट्यूमर

जयपुर: अक्सर ऐसा होता है जब किसी शख्स का ऑपरेशन होता है तो उसके परिवारवाले या करीबी बाहर बैठकर उसके लिए दुआ या प्रार्थना करते है लेकिन राजस्थान के बीकानेर से ऐसा मामला सामने आया है जहां ब्रेन ट्यूमर की सर्जरी के दौरान खुद मरीज की 3 घंटे तक हनुमान चालीसा पढ़ता रहा।

न्यूरो सर्जरी के सीनियर कंसल्टेंट डॉ. केके बंसल ने बताया, बीकानेर के डूंगरगढ़ निवासी तीस साल के अकाउंटेंट के ब्रेन के एक हिस्से में एक ट्यूमर था जिससे उन्हें बोलने में दिक्कत होती है। सर्जरी काफी क्रिटिकल थी क्योंकि किसी हिस्से में डैमेज से बोलने की क्षमता में खतरा हो सकता था।

डॉक्टर ने बताया हमने उन्हें बेहोश न रखने का फैसला किया लेकिन उन्हें दर्द न हो इसलिए उन्हें लोकल ऐनिस्थीसिया दिया गया। डॉक्टर ने बताया, सर्जरी के दौरान वह हर समय हनुमान चालीसा पढ़ते रहे। डॉक्टर ने बताया कि यह इसलिए किया गया ताकि सर्जरी के दौरान ब्रेन का वह हिस्सा जो आवाज को नियंत्रित करता है वह डैमेज न हो। इस वजह से उनका लगातार हनुमान चालीसा पढ़ते रहना काफी मददगार रहा और ट्यूमर निकाल दिया गया।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper