सर्दियों में इस प्रकार शरीर बना रहेगा फिट

नई दिल्ली: सर्दियों का मौसम आ गया है। यह मौसम सेहत बनाना के लिए सबसे अच्छा माना जाता है क्योंकि इसमें जमकर भूख लगती है। इसके साथ ही शीतलहर के कारण अपनी सेहत का खास ख्याल रखने की जरूरत होती है। इस मौसम में शरीर को अंदर से गर्मी न मिलने के कारण सर्दी-जुकाम जैसी शिकायत बढ़ जाती है। सर्दियों में इस प्रकार के खाने से आप इस मौसम में होने वाली छोटी-मोटी समस्याओं से बच सकते है। इनसे शरीर में गर्माहट भी बनी रहती है।

तिल

एंटीऑक्सीडेंट और आयरन के गुणों से भरपूर तिल का गुड़ के साथ सेवन करना सर्दियों में बहुत फायदेमंद होता है। इसके अलावा आप इससे बनी तिलपट्टी का सेवन भी कर सकते है।

गोंद के लड्डू

एक बाउल में गोंद, गेहूं का आटा, चीनी, घी, खरबूज के बीज, बादाम, और इलाइची को मिक्स करके लड्डू बनाए। रोजाना 1 लड्डू खाने से इस मौसम में भी आपके शरीर में गर्मी बनी रहेगी।

संतरा, गाजर, अमरूद

विटामिन ए और सी से भरपूर इन फलों का सेवन सर्दी में आपके इम्यून सिस्टम को बढ़ाता है। इसके अलावा ये फ्रूट्स आंखों और स्किन के लिए भी बहुत अच्छे होते है।

अलसी के बीज

इसमें पीसा गुड़, क्रश नट्स, तरबूज के बीज और कद्दू के बीजों को मिला पंजीरी बना लें। इसे रोजाना खाने से सर्दी-कफ के साथ-साथ कई हेल्थ प्रॉब्लम भी दूर होगी।

चिक्की

मूंगफली और गुड़ से बनी चिक्की का रोजाना सेवन सर्दियों में बहुत फायदेमंद होता है। इसमें मौजूद पोषक तत्व सर्दियों में भी शरीर को गर्म रखते है।

दालचीनी कुकीज

चीनी, आटा, दालचीनी, बेकिंग पाउडर, नमक, मक्खन, अंडे, और वेनिला एस्सेंस को मिला कर कुकीज तैयार करें। रोजाना एक कुकीज खाने से आपको शरीर को एनर्जी तो मिलेगी इसके साथ ही इससे कई हेल्थ प्रॉब्लम भी दूर होगी।

रोस्टेड नट्स

विटामिन ई के गुणों से भरपूर मूंगफली, काजू, बादाम, अखरोट जैसे नट्स को रोस्ट करके रोजाना खाने से स्किन में ग्लो आने के साथ कई हेल्थ प्रॉब्लम दूर होती है।

मखाने

मखानों को जैतून या नारियल के तेल में रोस्ट करके इनके उपर हल्की सी चिल्ली फ्लेक्स और ओरिगैनो छिड़के। सर्दियों में सुबह इसका सेवन करने से शरीर को पूरा दिन एनर्जी मिलती है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper